नव वर्ष के जश्न से एक दिन पहले आये 185 नये केस, कोरोना का हॉट स्पॉट बना जयपुर

 -दिसंबर माह में प्रदेश में एक करोड़ 24 लाख लोगों का टीकाकरण 
 
दिसंबर माह में प्रदेश में एक करोड़ 24 लाख लोगों का टीकाकरण

जयपुर। राजस्थान में कोरोना (CORONA) एक बार फिर से अपना असर दिखाने लगा है। न्यू ईयर सेलिब्रेशन (new year celebration) से एक दिन पहले गुरुवार को राजधानी जयपुर में लंबे समय बाद एक बार फिर से कोरोना के रिकॉर्ड 185 नए मामले सामने आये हैं। इससे स्वास्थ्य निभाग की चिंता बढ़ गई है। कल 31 दिसंबर है। लोग नये साल का जश्न मनाने के लिए जगह-जगह जुटेगें। राजस्थान में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केसेज को देखते हुये बुधवार को ही नई गाइडलाइन जारी कर कुछ पांबदियां लगाई गई हैं। नये साल को देखते हुये राज्य सरकार ने 31 दिसंबर को रात्री कर्फ्यू में दो घंटे की ढील भी दी है।

राजधानी जयपुर में सर्वाधिक 23 केस मानसरोवर में सामने आये हैं। उसके बाद दूसरे नंबर पर वैशाली नगर इलाके में 19 केस मिलें हैं। इनके अलावा मालवीय नगर में 16, लालकोठी इलाके में 13, बनीपार्क और तिलक नगर क्षेत्र में 8-8 केस पाये गये हैं। अन्य इलाकों में भी कोरोना के केस सामने आये हैं। जयपुर में करीब 6 महिने बाद साथ 183 नए मामले सामने आए हैं। हालांकि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश में अच्छी खबर भी सामने आई है। दिसंबर माह में प्रदेश में एक करोड़ 24 लाख लोगों का टीकाकरण हो चुका है।

राजस्थान में कोरोना के मामले पिछले कुछ समय से लगातार बढ़ रहे हैं। राजधानी जयपुर में तो रोजाना रिकॉर्ड केस सामने आ रहे हैं। पिछले एक सप्ताह से जयपुर में कोरोना केसेज में रफ्तार दो गुनी होती नजर आ रही है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार जयपुर में 29 दिसंबर को 88 मामले आए थे, 28 दिसंबर को 75 केस, 27 दिसंबर को 43 केस, 26 दिसंबर को 46 केस, 25 दिसंबर को 26 केस, 24 दिसंबर को 18 केस, 23 दिसंबर को 17 और 22 दिसंबर को सिर्फ 8 मामले सामने आए थे।

जयपुर सीएमएचओ डॉ.नरोत्तम शर्मा ने बताया कि अब जो लोग पॉजिटिव आ रहे हैं उनमें से ज्यादातर में लक्षण मिल रहे हैं। अब तक तीन लोगों को अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है। हालांकि कोरोना के बढ़ते मामलों बीच प्रदेश में वैक्सीनेशन ने रफ्तार पकड़ी है। इस माह प्रदेश में 1 करोड़ 24 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ है। इससे पहले अगस्त के माह में सर्वाधिक 1 करोड़ 20 लाख लाभार्थियों का रिकॉर्ड कोविड-19 टीकाकरण किया गया था।