50 चरित्रहीन पुलिसवालों की रिपोर्ट में नही था DSP हीरालाल सैनी का नाम

 
dsp hiralal

राजस्थान पुलिस विभाग की एक गोपनीय रिपोर्ट पर सवाल उठने लगे हैं। 50 चरित्रहीन पुलिसवालों की इस गोपनीय रिपोर्ट में आरएसपी हीरालाल सैनी का नाम नहीं है। महिला कॉन्स्टेबल व एक बच्चे के साथ अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद हीरालाल सैनी को लेकर देशभर में चर्चा है।  


जांच टीम के अनुसार वीडियो बीते जुलाई माह में बना था। ऐसे में पुलिस वलों की गोपनीय रिपोर्ट तैयार करने वालों पर सवाल उठने लगे हैं। बताया जा रहा है कि हीरालाल सैनी के चरित्र को लेकर पहले भी विभाग में कई तरह की चर्चाएं हो चुकी हैं। बावजदू इसके चरित्रहीन पुलिसवालों में उनका नाम नहीं है।


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार डीजीपी एमएल लाठर ने खुद गोपनीय रूप से जिला स्तर पर और इंटेलीजेंस के अधिकारियों के मार्फत ऐसे पुलिसवालों को चिह्नित कराया था। ताकि इनका जिला व रेंज बदला जाए और पुलिसवालों द्वारा दुष्कर्म व अस्मत मांगने के आरोपों पर अंकुश लगे। रिपोर्ट के अनुसार गोपनीय सूची में 50 से ज्यादा चरित्रहीन पुलिसवालों के नाम हैं। बताया जा रहा है कि सूची में अगर हीरालाल का नाम भी होता तो उसका ब्यावर से तबादला होना तय था, लेकिन जिम्मेदारों ने पुलिस मुख्यालय को नाम ही नहीं दिया।


एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस विभाग की अपनी ही जांच में 50 से ज्यादा पुलिसकर्मियों का महिलाओं को लेकर चरित्र खराब मिला है। इसके अलावा करीब 400 पुलिसकर्मी शराब माफियाओं, तस्करों और अन्य अवैध धंधों में लिप्त मिले हैं। बता दें कि राजस्थान में कुल 7 पुलिस रेंज, दो पुलिस कमिश्नरेट, 41 पुलिस जिले, 214 पुलिस सर्किल, 902 पुलिस थाने, 1200 से ज्यादा पुलिस चैकियां हैं। इन सभी जगह 2500 के करीब आरपीएस और इंस्पेक्टर रैंक के अफसर तैनात हैं। मुख्यालय ने इन सभी के कैरेक्टर की गोपनीय कुंडली बनाई है। इसमें ही कई तथ्य सामने आए हैं।


मिली जानकारी के मुताबिक एसीपी कैलाश बोहरा पर आरोपियों पर कार्रवाई करने की एवज में महिला से अस्मत मांगने के आरोप लगे थे। इससे पुलिस की छवि खराब हो गई थी। उसे सुधारने के लिए डीजीपी ने चरित्रहीन पुलिस वालों की सूची तैयार करवाया था। करीब 2 महीने पहले तैयार की गई इस गोपनीय रिपोर्ट में जिनके नाम हैं, उनका जिला और रेंज बदल दिया जाएगा। साथ ही उन्हें चेतावनी दी जाएगी कि फिर ऐसा किया तो कड़ा एक्शन होगा।