सचिन पायलट से मिले दिग्विजय सिंह, डोटासरा को कराया इंतज़ार

 
dig

 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शुक्रवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर पहुंचे। दिग्विजय सिंह होटल खासाकोठी में ठहरे हुए हैं। यहां उनसे मिलने कांग्रेस सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व पार्टी के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट पहुंचे।

सचिन पायलट से कुछ देर दिग्विजय सिंह की चर्चा हुई। इसके बाद दिग्विजय सिंह होटल खासाकोठी में ही कार्यकर्ताओं से भी मिले। उन्होंने कार्यकर्ताओं को बधाई दी। इसी दौरान दिग्विजय सिंह से मिलने राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी पहुंचे। गोविंद सिंह को दिग्विजय सिंह ने करीब 30 मिनट इंतजार करवाया।

होटल के लॉन में गोविंद सिंह करीब आधे घंटे बैठे रहे। इसके बाद कमरे में उनको मिलने के लिए दिग्विजय सिंह ने बुलाया। बता दें कि पंजाब के बाद राजस्थान में भी सियासी हलचल तेज हो गई है। मुख्यमंत्री बदलने को लेकर राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के समर्थक दो गुटों में बंट गए हैं। 

सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग खुलकर की जा रही है। विधायक दिल्ली दौरा भी कर रहे हैं। ऐसे में दिग्विजय सिंह के राजस्थान दौरे और सबसे पहले सचिन पायलट से मुलकात के अलग-अलग सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि दिग्विजय सिंह ने राजस्थान में चल रहे सियासी खींचतान पर फिलहाल कोई बयान नहीं दिया है।

दिग्विजय सिंह ने भारत में ड्रग्स सप्लाई को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। जयपुर में उन्होंने मीडिया से चर्चा में कहा कि 13 सितम्बर 2021 को केंद्र सरकार के अमले में मुद्रा पोर्ट पर टैलकम पाउडर के नाम पर ड्रग्स भारत आई। आशीष ट्रेडिंग कंपनी ने इस ड्रग्स को आयातित किया। 

इस कम्पनी के दंपती को इसे आयात करने का कमिशन मिला था, लेकिन देश मे इतना बड़ा ड्रग्स का कारोबार कौन कर रहा है। इसके बारे में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह ड्रग्स अफगानिस्तान से ईरान और ईरान से भारत आई। केन्द्र सरकार ने इस मामले की जांच एनआईए को सौंप दी है। एनआईए की जांच पर हमें भरोसा नहीं है। क्योंकि एनआईए ने जितनी भी जांचें की, उसमें आरोपी बरी हो गए। ऐसे में मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सीटिंग जज व रिटायर जज की निगरानी में कराई जानी चाहिए।