बेटे की लाश कंधे पर लादे पिता टैंपो की तलाश में भटकता रहा, अस्पताल ने स्ट्रेचर तक नहीं दिया

 
dholpur news

 धौलपुर। राजस्थान के धौलपुर से मानवता को झंकझोर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पिता कंधों पर बेटे की लाश लिए टैंपो की तलाश में भटकता नजर आया। बेबस पिता को अस्पताल से बेटे का शव वाहन तक ले जाने के लिए स्ट्रेचर तक मुहैया नहीं करवाया गया।

दरअसल, धौलपुर में एक मजदूर के तीन बच्चे समीर, संगीता और बबलू उल्टी दस्त और पेट दर्द से पीड़ित थे, पति-पत्नी तीनों बच्चों को कंधे पर लेकर सरकारी अस्पताल आए थे। जहां अस्पताल में बड़े बेटे समीर को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। जबकि दो अन्य बच्चों को इलाज के लिए भर्ती कर लिया गया। हैरानी की बात यह है कि बच्चे का शव बाहर तक ले जाने के लिए पिता को स्ट्रेचर तक नहीं दिया गया।

पिता कंधे पर लाडले का बेटे का शव लादे भीषण गर्मी में घंटों टैंपो के लिए भटकता रहा। इसे देखने वालों का भी दिल पसीज गया। इस घटना ने धौलपुर के जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े कर दिए।

वहीं दूसरी ओर अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि जो फोटो वायरल हो रही है। वे बच्चे को इमरजेंसी वार्ड ले जाते हुए है। हमने पूरी तरह से सहयोग किया था।