सीएम अशोक गहलोत का वर्क फ्राम होम हूआ खत्म, सचिवालय पहुंचे

 
gehlot news

 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का डेढ़ साल बाद वर्क फ्राम होम खत्म हो गया। वे सोमवार को सचिवालय में मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचे। वे यहां चार घंटे रुके ओर सामान्य दिनों की भांति अपना कामकाज निपटाया। मंगलवार को मुख्यमंत्री गहलोत पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी से सियासी मैनेजमेंट पर मंत्रणा करेंगे। सीएम गहलोत मंगलवार शाम 5 बजे कैबिनेट की बैठक भी लेंगे।

इस साल 26 जनवरी को गहलोत थोड़ी देर ही सीएमओ जाकर वापस चले गए थे, इसे छोड़ कोरोनाकाल में 18 महीने से वह कार्यालय नहीं गए थे। मार्च 2020 के आखिर में कोरोना की पहली लहर आ गई थी। उस समय लंबा लॉकडाउन रहा।

मुख्यमंत्री ने कोरोना की दोनों लहर में सीएम निवास से ही कामकाज संभाला। पहली लहर के खत्म होने के बाद जुलाई में सचिन पायलट खेमे की बगावत के बाद सियासी संकट के कारण 34 दिन तक मंत्री और विधायक होटलों में बाड़ेबंदी में रहे। उस दौरान भी गहलोत ने सीएम निवास के ऑफिस से ही काम किया। मुख्यमंत्री कार्यालय की जगह सीएम निवास से ही पूरी बैठकें लीं।

गहलोत ने कोरोना की दूसरी लहरी में 300 से ज्यादा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। उद्घाटन और शिलान्यास के कार्यक्रम भी वर्चुअल ही किए। बीजेपी कई बार मुख्यमंत्री गहलोत के सीएमओ नहीं जाने पर सवाल उठा चुकी है। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ सहित कई बीजेपी नेताओं ने गहलोत के वर्चुअल बैठकें लेने पर तंज कसते हुए वर्चुअल सीएम कहा था।

सीएम गहलोत ने फील्ड में सक्रिय होने के संकेत दिए हैं। गहलोत सोमवार को गांधीजी से जुड़े दो कार्यक्रमों में भाग लिया। मंगलवार को पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ बैठक करने के बाद गहलोत उन्हें दोपहर भोज देंगे। गहलोत 8 अक्टूबर को धरियावद और वल्लभनगर में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे।