मुख्यमंत्री गहलोत ने कोटा दौरे के दौरान अधिकारियों कि जमकर तारीफ की, महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे

 
महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे

कोटा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोटा जिले के जोरावरपुरा ग्राम पंचायत की ओर से आयोजित प्रशासन गांव के संग अभियान के शिविर का जायजा लेने पहुंचे। यहां सीएम गहलोत ने सभा को संबोधित किया। पीपल्दा के जोरावरपुरा में मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने संबोधन में कहा-केंद्र को अभी भी पेट्रोल-डीजल की रेट घटानी चाहिए, 10 से 15 रुपए प्रति लीटर कम करने की जरूरत हेै। करीब 20 मिनट के भाषण में गहलोत ने किसान, बिजली, सड़क व शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कामों को जनता के सामने रखा। साथ ही गहलोत ने केंद्र की नीतियों के कारण महंगाई बढ़ने की बात कही।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कोटा दौरे के दौरान अधिकारियों कि जमकर तारीफ की

गहलोत ने शिविरों के बारे में जानकारी देते हुए अधिकारियों के कामों की प्रशंसा की। उन्होंने नामांतरण, शुद्धिकरण, रास्ते के विवाद, सीमाज्ञान, पत्थरगढ़ी, मूलनिवास, हैसियत प्रमाण पत्र, सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लाभार्थियों की संख्या के बारें में जानकारी दी। उन्होंने चिरंजीवी योजना के बारें में बोलते हुए कहा कि 5 लाख तक के कैशलेस इलाज की योजना देशभर में कहीं नहीं केवल राजस्थान सरकार ने ही ऐसी योजना लागू की है।

कोटा जिले के जोरावरपुरा ग्राम पंचायत की

गहलोत ने कहा कि केंद्र की गलत नीतियों के कारण महंगाई बढ़ी है। कैबिनेट बैठक में 3 घंटे की मीटिंग में पेट्रोल-डीजल पर फैसला किया है। केंद्र सरकार को चाहिए कि वो राज्य सरकारों को मजबूत करें। असली काम राज्य सरकार करती है। केंद्र ऐसी नीतियां बनाई जिससे राज्यों का रेवेन्यू बढ़े। अभी की नीतियों से राज्यों का रेवेन्यू कम हो रहा है। गहलोत ने कहा कि जहां जहां उनकी पार्टी की सरकारें वो बोल नहीं पाती। उन्होंने कहा कि हम केंद्र पर दबाव बनाकर रखेंगे। अपने संबोधन के दौरान गहलोत ने स्थानीय विधायक रामनारायण मीणा की जमकर तारीफ की।

गहलोत ने पीपल्दा विधानसभा की ग्राम पंचायत जोरावरपुरा में पहुंचकर प्रशासन गांव के संग अभियान का अवलोकन किया, उनके साथ पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा और क्षेत्रीय विधायक रामनारायण मीणा भी मौजूद थे। इस दौरान गहलोत ने शिविर में लगे विभिन्न विभागों के स्टाल पर जाकर अधिकारियों से फीडबैक लिया। उन्होंने कैंप में सैनिक कल्याण विभाग की डेस्क पर मौजूद पूर्व सैनिकों से बात की, उन्होंने राज्य सरकार द्वारा सैनिक कल्याण के लिए बनाई गई नीतियों पर प्रसन्नता व्यक्त की।

दिव्यांग महिला 35 वर्षीय श्रीमती मंजू बाई को व्हीलचेयर प्रदान

इस दौरान उन्होंने एक दिव्यांग लाभार्थी से बातचीत की। वही एक दिव्यांग महिला 35 वर्षीय श्रीमती मंजू बाई को व्हीलचेयर प्रदान की। वे 8 वर्ष की आयु में पोलियो ग्रस्त हो गई थी, पूर्व में इनके पास ट्राईसाईकिल थी लेकिन अब चलने फिरने में बहुत परेशानी होती थी। व्हीलचेयर भेंट करने के बाद व्हील चेयर पर बैठी दिव्यांग महिला की चेयर को पकड़कर सीएम गहलोत ने शिविर में घुमाया।

मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद रहा। ग्रामीण एसपी 8 डीएसपी, 20 सीआई समेत पुलिस के जवान तैनात रहे। जोरावरपुरा शिविर में भाग लेने के बाद सीएम अशोक गहलोत हिंडोली विधानसभा की ग्राम पंचायत ठिकरदा के लिए रवाना हो गए।