बूंदी : निदेशक के सामने हुई शिकायत तो नगर परिषद कर्मचारी बगले झांकने लगे

- दो कर्मचारियो को कार्याे में शिथिलता बरतने, एक संविदा कर्मचारी की सेवा समाप्त के निर्देश  
 
बूंदी:निदेशक के सामने हुई शिकायत तो नगर परिषद कर्मचारी बगले झांकने लगे
- दो कर्मचारियो को कार्याे में शिथिलता बरतने, एक संविदा कर्मचारी की सेवा समाप्त के निर्देश 

बून्दी,(कलीमुद्दीन अंसारी)। प्रशासन शहरो के संग अभियान की समीक्षा के लिए आयोजित कार्यशाला के दौरान भाजपा पार्षदो तथा कोटा रोड व्यापार संघ सहित आमजन ने स्वायत शासन विभाग के निदेशक के सामने अपनी समस्याएं रखी। कई नागरिको ने अपने पटटे नही बनने की शिकायत भी की। जिस पर नगर परिषद कर्मचारियो को बगले झांकना पडा।

प्रशासन शहरो के संग अभियान की समीक्षा

शिकायत पर एक संविदा कर्मचारी को सेवा से हटाने सहित दो अन्य कर्मचारियो को पटटे बनाने के कार्य मे शिथिलता बरतने का निर्देश देेने का निर्णय हुआ। कार्यशाला के दौरान नगर परिषद मे नेता प्रतिपक्ष मुकेश माधवानी तथा शहर भाजपा अध्यक्ष महावीर खंगार के नेतृत्व मे भाजपा पार्षद अपनी समस्याएं लेकर कार्यशाला मे पहुुंचे। जहां पटटे बनाने मे आ रही परेशानी के बारे मे निदेशक को अवगत कराया। शिकायत पर उप निदेशक दीप्ति रामचन्द्रन मीणा ने कर्मचारियो को तलब किया। तलब करने पर कई कर्मचारी सन्तोषप्रद जवाब नही दे पाये। बाद मे निदेशक ने संविदा पर लगे एक कर्मचारी को हटाने के निर्देश दिये वही दो अन्य कर्मचारियो को कार्य मे शिथिलता बरतने को कहा। 

भाजपा पार्षद

इस दौरान भाजपा पार्षदो ने सीवरेज ठेकेदार की भी शिकायत की जिस पर जांच पर जांच हेतु एक कमेटी बनाने का निर्णय हुआ। कार्यशाला मे कोटा रोड व्यापार संघ अध्यक्ष राजकुमार श्रंृगी के नेतृत्व मे दुकानदार निदेशक से मिले। दुकानदारो ने कोटा रोड से ठेले हटाने, दुकानो की छत दुकानदारो को देने तथा कोटा रोड स्थित किरायेदार दुकानदारो का नियमन करने की मांग रखी जिस पर निदेशक ने विचार करने का आश्वासन दिया। इस दौरान इंदिरा रसोई मे हो रहे भ्रष्टाचार की भी शिकायत सामने आई।