बूंदी की अपणायत को दिल में बसा ले गए हजारों अभ्यर्थी, बोले- नहीं आई कोई परेशानी

 
 अपणायत को दिल में बसा ले गए हजारों अभ्यर्थी

बूंदी। रीट परीक्षा में विभिन्न जिलों से बूंदी में परीक्षा देने आए अभ्यर्थी पहली बार परीक्षार्थियों के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन स्तर पर की गई विशेष व्यवस्थाओं के कायल होकर गए। विभिन्न संगठनों द्वारा अतिथियों  सी आवभगत और बूंदी के अपनेपन को वे अपने दिलों में संजो ले गए।

किसी को कार में किसी को बाइक पर पहुंचाया परीक्षा केंद्र
परीक्षा देने के लिए अधिकांश अभ्यर्थी रात को ही आ चुके थे लेकिन कुछ ऐसे भी रहे जो सुबह परीक्षा शुरू होने के लगभग डेड दो घंटे पहले हायर सेकेंडरी स्कूल पहुंचे यहां से लगभग सभी केंद्रों के लिए वाहन पहले ही जा चुके थे ऐसे में एक महिला को परिवहन कार्यालय के एक कार्मिक  के साथ बाइक पर देवली परीक्षा केंद्र भिजवाया गया। इसी तरह विलंब से पहुंची एक अभ्यर्थी को टैक्सी से केशोरायपाटन पहुंचाया गया।

किसी को बाइक पर पहुंचाया परीक्षा केंद्र

अभ्यर्थी बोले- नहीं आई कोई परेशानी, प्रशासन की व्यवस्थाएं सराहनीय
अजमेर जिले की श्रीमती सरोज अपने दो बच्चों और पति के साथ परीक्षा देने आई। उन्होंने कहा कि जीवन में पहली बार ऐसी व्यवस्थाएं देखी हैं। इसी तरह उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से आए सौरभ, आभा तथा श्वेता ने कहा कि जिला प्रशासन की व्यवस्थाएं बेहद सराहनीय रही। उन्हें किसी तरह की परेशानी नहीं आई। भीलवाड़ा निवासी सुनील पाठक ने कहा कि व्यवस्थाएं बहुत अच्छी थी। जिससे बहुत राहत मिली उन्होंने जिला प्रशासन का आभार व्यक्त किया।

पहली पारी में 6781, दूसरी में 6680 रहे अनुपस्थित
नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रथम पारी सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक (द्वितीय स्तर) कक्षा 6 से 8 तक परीक्षा में 6 हजार 781 अनुपस्थित रहे। वहीं द्वितीय पारी दोपहर 2.30 बजे से सांय 5.00 बजे तक (प्रथम स्तर) कक्षा 1 से 5 तक में 6680 अनुपस्थित रहे।

जिला कलेक्टर की तरफ से आभार
अभ्यर्थियों की व्यवस्थाओं को बेहतर तरीके से निभाने के लिए विभिन्न सामाजिक व्यवसायिक संगठनों, आवास व्यवस्थाओं में  प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष सहयोग करने वाले व्यक्ति एवं संस्थाओं का आभार व्यक्त किया। साथ ही व्यवस्था में जुटे जिला प्रशासन, पुलिस, परिवहन, रोडवेज, शिक्षा एवं विभागों के अधिकारियों कर्मचारियों तथा अनुशासन रखते हुए व्यवस्था में सहयोग के लिए अभ्यर्थियों को भी साधुवाद दिया है।