डीएपी खाद की किल्लत के चलते लगी किसानो की लंबी कतारें, पुलिस पहरे में बटां खाद

 
डीएपी खाद की किल्लत के चलते लगी किसानो की लंबी कतारें

बूंदी। जिले में डीएपी खाद की किल्लत के चलते किसानों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, खाद के लिए किसान लंबी-लंबी लाइनों में घंटों लगकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। जिले के नैनवा कस्बे में किसानों की खाद के लिए लगी लंबी लाइनों की तस्वीर सामने आई है। जहां पुलिस सुरक्षा में खाद बटवाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार जिले में डीएपी खाद की चल रही किल्लत के चलते महिला-पुरुष किसान लंबी-लंबी कतारों में लगे हुए हैं। जहां किसानों को पर्याप्त मात्रा में डीएपी खाद नहीं मिल रहा है। जिसके चलते किसान डीएपी के लिए पिछले 10 दिनों से दर-दर भटक रहे हैं।

 नैनवां क्रय विक्रय सहकारी समिति में खाद आने पर सुबह से लंबी-लंबी लाइनों में खड़े किसान अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन नंबर आने पर उन्हें पर्याप्त खाद नहीं मिल पाने और डीएपी के स्थान पर सिंगल सुपर फास्फेट का कट्टा थमा देने से उन्हें भारी मुश्किलों से गुजारना पड़ रहा है। किसान डीएपी की उचित व्यवस्था किए जाने की मांग कर रहे है। ताकि वह समय पर रबि फसल की बुवाई कर सकें।

वहीं दूसरी ओर नैनवां क्षेत्र के लिए एक हजार मैट्रिक टन डीएपी आने की बात सहकारी समिति के व्यवस्थापक कह रहे हैं। खाद के लिए किसानों की भारी भीड़ के बीच पुलिस पहरे में किसानों को डीएपी और एसएसपी यानी सिंगल सुपर फास्फेट के चार कट्टे दिए जा रहे हैं, जो कि जल्द ही डीएपी के क्षेत्र की समितियों में पहुंचने पर हालात सामान्य हो जाने की बात कही जा रही है। किसानों से डीएपी विकल्प के रूप में यूरिया और एसएसपी के मिश्रण को उपयोग में लेना फायदेमंद बताकर किसानों से धैर्य बनाए रखने की अपील की जा रही है।