बूंदी: अपराध गोष्ठी में एसपी जय यादव ने कहा- जनसहयोग से थाना इलाके में लगायें सीसीटीवी कैमरे

 
जिले के पुलिस अधिकारियों को मुख्यालय द्वारा तय कि गई प्राथमिकताओं पर दिए कार्यवाही के निर्देश
जिले के पुलिस अधिकारियों को मुख्यालय द्वारा तय कि गई प्राथमिकताओं पर दिए कार्यवाही के निर्देश 

बूंदी। जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव ने अपराध गोष्ठी (crime conference) में जिले के पुलिस अधिकारियों को महानिदेशक पुलिस राजस्थान जयपुर पुलिस मुख्यालय द्वारा वर्ष 2022 में तय की गई प्राथमिकताओं के प्रत्येक बिन्दू पर कार्यवाही के निर्देश दिये। जिसमें वर्ष के अन्त में लम्बित प्रकरणों का मेरिट के आधार पर निस्तारण करने, आर्दश पुलिस थाना में मुख्यालय द्वारा जारी एसओपी के अनुसार शेष सम्पूर्ण कार्यवाही करने, गत 5 वर्षाे में चोरी व नकबजनी के चालान शुदा अभियुक्तों को चिंहित करने, सडक दुर्घटनाओं में कमी के लिए ब्लैक स्टॉप का चिन्हिकरण दुर्घटनाओं में कमी लाने, 10 या 10से अधिक मुकदमें पर अपराधियों को चिन्हित कर नई एचएस खोलने व जिला बदर की कार्यवाही करने के निर्देश दिये है। इस दोरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिले के सभी वृत्ताधिकारी, थानाधिकारी मौजूद थें।

अपराध गोष्ठी में एसपी जय यादव ने कहा- जनसहयोग से थाना इलाके में लगायें सीसीटीवी कैमरे

 पुलिस अधीक्षक जय यादव ने जिले के समस्त पुलिस अधिकारियों की अपराध  गोष्टी आयोजित कर सभी थानों के क्षेत्र में बडे व छोटे कस्बो में जन सहयोग व भामाशाह से सीसीटीवी कैमरे लगवाने व निगरानी करने के लिए समन्वय कर कैमरे लगवाने, अनुसुचित जाति एंव अनुसुचित जनजाति निवारण एक्ट के प्रकरणों, पोक्सो एक्ट के प्रकरणों, सामूहिक बलात्कार के 2 माह से अधिक पेंडिग प्रकरणों का त्वरित एंव निष्पक्ष अनुसंधान कर निस्तारण करने, अवैध हथियारों पर ज्यादा-ज्यादा कार्यवाही, ऑपरेशन मिलाप-2 के तहत गुमशुदा नाबालिक बच्चो की तलाश करने, मालखाना में जब्त लम्बित शीघ्र नष्ट होने वाले मालों का निस्तारण, दहेज के प्रकरणों में जब्त माल का निस्तारण व पोक्सो एक्ट के प्रकरणो में विधि विज्ञान प्रयोगशाला द्वारा किये गये परिक्षणों के नतिजो को  न्यायालय में पेश करने, जिले में लम्बित प्रकरणो में त्वरित एंव निष्पक्ष अनुसंधान करने के निर्देश दिये गये।

मुख्यालय द्वारा चलाये जा रहे अभियान पर सख्ती से कार्यवाही करने के निर्देश देते, अवैध मादक पदार्थ स्मैक, गांजा, चरस, हथकड शराब आदि के मुख्य सरगना सप्लायर को गिरफ्त में लेने के निर्देश दिये। बदमाशों के खिलाफ गुण्डा एक्ट, राजपासा व 122 सीआरपीसी, जमीनी विवादो में 145 सीआरपीसी में कार्यवाही करने। बडे कस्बो में साम्प्रदायिक विवादित स्थानों को चिन्हित कर विशेष निगरानी रखने, साम्प्रदायिक सदभाव बिगाडने वालो व बदमाशों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिये।