बूंदी : बैमोसम बरसात के साथ ओलावृष्टि ने किसानो की फसलों और आशियानों पर बरपा क़हर

-खेतों में ओलो की चादर बिछ जाने से फसलें आड़ी पड़ी, अब सरकार और प्रशासन पर टिकी निगाहें
-मंत्री चांदना ने जिला कलेक्टर को खराबे का सर्वे कराने के निर्देश दिए
 
बूंदी: बैमोसम बरसात के साथ ओलावृष्टि ने किसानो की फसलों और आशियानों पर बरपा क़हर

बूंदी। जिले के हिण्डोली क्षेत्र में कल शाम और रात को हुई बैमोसम बरसात के साथ हुई कहर बरपाने वाली ओलावृष्टि के चलते किसानो की फसलो और उनके आशियानांे पर ओलो की चादर बिछ गई। ओलावृष्टि होने से फसलें जमीदोज़ हो जाने के साथ ही क़वेलूपोश कच्चे मकानो की चद्दरो के क्षतिग्रस्त हो जाने से बर्बादी की कगार पर पंहुचे पीङित किसान सहित क्षेत्र के लोग सङको पर आ गये है। राज्यमंत्री अशोक चांदना ने जिला कलेक्टर को ओलावृष्टि से रवि की फसलों में खराबे का सर्वे करवाकर आर्थिक सहायता दिलाने के लिए निर्देशित किया है। जानकारी के मुताबिक, हिण्डोली क्षेत्र में बैमोसम बारिस और औलावृष्टि क्षेत्र में खङी गेंहू, सरसो, गन्ना, लहसून और सब्जियो की फसलो सहित आशियानों पर कहर बरपा गयी।

खेतों में ओलो की चादर बिछ जाने से फसलें आड़ी पड़ी

क्षेत्र में कल शाम और रात को बैमोसम बारिस के साथ पांच मिनट तक बैर और निंबू के आकार की औलावृष्टि हुई, खेतो और आशियानो पर ओलो की चादर बिछ जाने से क्षतिग्रस्त फसले जमीन पर पड़कर नष्ट होगई। बूंदी जिल में हिण्डोली क्षेत्र के दलेलपुरा गांव में कहर बन कर बरसी बैमोसम बारिश और औलावृष्टि के चलते भारी तबाही मचाते हुये, क्षेत्र में खङी गैंहू, सरसो, गन्ना, लहसून और सब्जियो की फसलो को पूर्ण रुप से नष्ट करने के साथ उनके कवेलूपोश मकानो को क्षतिग्रस्त कर दिये जाने से बर्बादी के कगार पर पंहुचे पीङित किसानो को अपने परिवार के भविष्य की चिंता सताने लग गई है। जिसके चलते बैमोसम बारिश और ओलावृष्टि द्वारा मचाई गई तबाही के नुकसान की भरपाई के लिए जिला प्रशासन और राज्य सरकार की और उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे पीङित किसान क्षेत्र में हुये नुकसान का सर्वे करवा कर उचित मुआवजा दिये जाने की मांग करने लगे है।

बैमोसम बारिश और ओलावृष्टि के कहर के चलते बर्बाद हुये पीङित किसानो का कहना है की उन्होने जैसे तैसे उधार राशि लेकर महंगे भाव का बीज, खाद खरीद कर उसमें अपना खून पसीना मिला कर फसलो की बुवाई की थी। लेकिन बैमोसम बारिश और ओलावृष्टि द्वारा उनका फसलांे से लेकर आशियानो को भी नष्ट कर दिये जाने से वे एक तरह से बेघर होकर रोङ पर आ गये है। जिसके चलते वे राज्य सरकार द्वारा मुआवजा दिये जाने की मांग कर रहे है। ताकी वे अपने परिवार का गुजर बसर कर सके।

मंत्री चांदना ने जिला कलेक्टर को खराबे का सर्वे कराने के निर्देश दिए
राज्यमंत्री अशोक चांदना ने जिला कलेक्टर को ओलावृष्टि से रवि की फसलों में खराबे का सर्वे करवाकर आर्थिक सहायता दिलाने के लिए निर्देशित किया है। चांदना ने जिला कलेक्टर को लिखे पत्र में ओलावृष्टि से रवि की फसलों में काफी खराब होने, विशेषकर विधानसभा हिंडोली नेनवां में सरसों, चने की फसलों में सर्वाधिक खराबा होने का हवाला देते हुए कहा कि ओलावृष्टि से फसलों के खराबी के कारण किसान चिंतित है। राज्य सरकार किसानों के हित के प्रति संवेदनशील है जिन्हे हर प्रकार से आर्थिक सहायता करवाने के प्रयास किये जाये। 

सांसद सुभाष बहेड़िया से की मांग
ओलावृष्टि से हुए नुकसान का सर्वे जल्द करवाने की मांग को लेकर हिंडोली क्षेत्र की पंचायत समिति सदस्य अर्चना कंवर ने सांसद सुभाष बहेड़िया को पत्र लिखकर फसलों के खराबे का सर्वे करवा कर आर्थिक सहायता दिलाने की मांग की है।