बूंदी : जिला कलक्टर रेनू जयपाल ने नगर परिषद आयुक्त को थमाया नोटिस, 3 दिवस में मांगा जवाब

- स्थगन आदेश होते हुए शहीद स्मारक के शिलान्यास का प्रस्ताव भेजने पर प्रभारी मंत्री ने भी नाराजगी जाहिर की थी 
 
जिला कलक्टर रेनू जयपाल ने नगर परिषद आयुक्त को थमाया नोटिस

बूंदी। शहर के नैनवां रोड़ स्थित एक विवादित भूमि पर शहीद स्मारक के शिलान्यास (Martyrs Memorial Foundation Stone Laying) कराने का प्रस्ताव भेजकर जिला प्रशासन को गुमराह करने के मामले में जिला कलेक्टर रेणु जयपाल (District Collector Renu Jaipal) ने नगर परिषद आयुक्त महावीर सिंह सिसोदिया को नोटिस (Notice to Municipal Council Commissioner Mahavir Singh Sisodia) जारी कर 3 दिवस में जवाब तलब किया है। 

जिला कलेक्टर द्वारा जारी किए गए नोटिस में कहा कि शहर में प्रभारी मंत्री के प्रस्तावित दौरे को लेकर विभागीय कार्यों के शिलान्यास व उद्घाटन के प्रस्ताव मांगे गए थे। नगर परिषद द्वारा क्षेत्र में नैनवा रोड स्थित शहीद स्मारक के उद्घाटन का कार्यक्रम प्रस्तावित किया गया। जबकि इस भुमि पर न्यायालय के स्थगन आदेश है, स्थगन आदेश होने के बावजूद भी शहीद स्मारक के उद्घाटन का कार्यक्रम प्रस्तावित किया गया। आयुक्त द्वारा तथ्यों को छिपाकर जिला प्रशासन को गुमराह करके शहीद स्मारक का उद्घाटन कार्यक्रम प्रस्तावित किए जाने की सूचना प्रभारी मंत्री को प्रेषित कर दी गई। जिस पर प्रभारी मंत्री ने भी नाराजगी जाहिर की है।   कार्यराज कार्य के प्रति नगर परिषद आयुक्त की उदासीनता लापरवाही  मानते हुए  मामले में तीन दिवस में जवाब तलब किया है। साथ ही अनुशासनिक कार्यवाही की चेतावनी भी नोटिस के जरिये दी है।

गौरतलब है कि नगर परिषद आयुक्त ने जिला प्रशासन को गुमराह कर 24 दिसंबर को बूंदी प्रवास पर आयी जिला प्रभारी मंत्री जाहिदा खान के द्वारा दोपहर 3 बजे शहीद स्मारक का शिलान्यास का कार्यक्रम तय किया था, लेकिन उक्त भूमि पर स्थगन आदेश होने की बात नगर परिषद आयुक्त द्वारा छिपाई गई थी और प्रभारी मंत्री के आने से पहले मामला उजागर होने से एन वक्त पर जिला प्रशासन को शहीद स्मारक शिलान्यास का कार्यक्रम टाालना पड़ा था। 
आपको बता दें नवजीवन संघ कॉलोनी की भूमि पर स्थगन आदेश जारी है, जहां समिति पदाधिकारियों पर किसी भी तरह का नया निर्माण, स्वयं के स्वामित्व के भूखंड का बेचान नहीं करने, नए पट्टे या पूर्व में जारी किए गए पट्टों का पंजीयन नहीं करने आदी पर रोक लगा रखी है। साथ ही नवजीवन कॉलोनी के मामले में सामने आया है कि उक्त नवजीवन संघ संस्थान रजिस्ट्रार सहकारी समिति बूंदी में भी पंजिकृत नहीं है।

ये बौलीं जिला कलक्टर बूंदी-
जिला कलेक्टर सुश्री रेनू जयपाल ने कहा कि जिस भूमि पर न्यायालय का स्थगन आदेश लागू है, उस बात को छुपाते हुए नगर परिषद आयुक्त ने शहीद स्मारक के शिलान्यास का कार्यक्रम प्रस्तावित किया था, समय रहते मामला संज्ञान में आने से शिलान्यास का कार्यक्रम टालना पड़ा। जिस पर प्रभारी मंत्री ने भी नाराजगी जाहिर की। नगर परिषद आयुक्त को नोटिस जारी कर तीन दिवस में जवाब तलब किया है।