बूंदी जिले में कोरोना संक्रमण ने दी दस्तक, 6 नए मामले आये सामने

 
बूंदी जिले में कोरोना ने दी दस्तक, 6 नए केस मिलें

बूंदी। जिले में एक बार फिर कोरोना संक्रमण ने दस्तक देकर लोगों की चिंता बढ़ा दी है। जिले में गुरुवार को 6 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। जिनमें चार मामले बूंदी शहर एवं दो केस केशोरायपाटन इलाके के हैं। बुधवार को 1400 लोगों की सैंपलिंग की गई थी। 

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार करीब 6 माह के बाद बूंदी जिले में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण का खाता खुला है। 2 जुलाई 2021 को बूंदी जिला कोरोना मुक्त हो गया था। जिसके बाद आज 6 जनवरी को 6 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें बूंदी शहर में चार कोरोना पॉजिटिव मिले, इनमें जवाहर नगर हाउसिंग बोर्ड, कागदी देवरा, गुरु नानक कॉलोनी, और पुलिस लाइन रोड बूंदी से 1-1 संक्रमित मिला है। जबकि केशोरायपाटन कस्बे के वार्ड नं. 3 से दो कोरोना के केस सामने आये है। दोनों ही केशोरायपाटन कस्बे के हैं।

इधर जिले में कोरोना के नए मामले सामने आने के साथ प्रशासन और अधिक सख्त हो गया है। पहले से कोरोना की रोकथाम के लिए प्रयासरत प्रशासन ने अब लापरवाह लोगों के साथ सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। इससे पहले लोगों से समझाइश कर कोरोना प्रोटोकोल की पालना करने की हिदायत दी जा रही थी। अब प्रशासन ने लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्यवाही कर चालान बनाने जैसी कार्रवाई शुरू कर दी है।

बूंदी जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने लोगों से आह्वान किया है कि कोरोना गाइड लाइन की पालना करें, अनावश्यक घर से बाहर ना निकले, आवश्यक हो तो ही घर से बाहर निकले, घर से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाना ना भूलें। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जाए। उन्होंने व्यापारियों से भी कोरोना गाइड लाइन की पालना करने का आह्वान किया है।

इधर जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव ने जिले के विभिन्न थाना अधिकारियों को कोरोना संक्रमण रोकथाम के तहत जारी कोविड गाईडलाइन की पालना कराने के निर्देश दिए हैं। ताकि जिले में कोरोना को बढ़ने से रोका जा सके।

मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेंद्र कुमार त्रिपाठी जिले के चिकित्सा अधिकारियों के साथ कोरोना की रोकथाम के लिए प्रयासों में जुटे हुए है। उन्होंने अधिकारियों को संदिग्ध रोगियों की तत्काल सैंपलिंग कराने के निर्देश दिए हैं।