Bundi utsav : फलक पर उतारे जीवन्त नजारे- सुखमहल में आर्ट वर्कशॉप आयोजित

 
bundi utsav 2021

 बून्दी। बून्दी उत्सव (Bundi utsav) के दूसरे दिवस सुखमहल में आयोजित आर्ट वर्कशॉप में बून्दी ब्रश के चित्रकारों ने विरासत के जीवंत चित्र बनाकर उत्सव के माहौल में चार चांद लगा दिए। वर्कशॉप का शुभारंभ नगर परिषद सभापति श्रीमती मधु नुवाल एवं जिला कलेक्टर कुमारी रेणु जयपाल ने फलक पर ब्रश चलाकर किया।

इस अवसर पर लोक कलाकारों ने अपनी मनोहारी प्रस्तुतियों से समा बांधा। आर्ट वर्कशॉप में चित्रकार हर्षा गौड़ ने वाइल्ड लाइफ का चित्रांकन किया । रचना पंचोली ने सुखमहल को उकेरा। चित्रकार सुनील जांगिड़ ने  शोभायात्रा में हाथी बनाया । सोहनलाल प्रजापत ने मांडना का चित्रण किया । रिंकू कुमार ने सुखमहल व लाभचंद ने प्यास बुझाता ग्रामीण बनाया । युक्ति शर्मा ने शिकार बुर्ज व प्रियांश ने कच्छी घोड़ी का चित्र बनाया । चित्रकार पंकज सिसोदिया ने चौगान गेट पर उत्सव की उमंग का सजीव चित्रण किया। लक्ष्मी जांगिड़ ने सूरज छतरी का चित्रांकन किया । प्रीति सरोजा ने थ्री डी आर्ट की पेंटिंग बनाई । रीना जांगिड़ ने बून्दी की हेरिटेज गलियों को उकेरा । हेमराज ने सहरिया नृत्य व विजय सोलंकी ने मदमस्त घोड़ा केनवास पर उकेरा । ब्रजेश कुमार ने लोक कलाकार को चित्रण किया । रामप्रसाद ने नायिका का चित्रण किया। नीतू गोस्वामी ने बून्दी उत्सव के लोक कलाकारों का चित्रण किया। इन चित्रों का शहर वासियों एवं पर्यटकों ने अवलोकन कर चित्रकारों का उत्साहवर्धन किया।

bundi penting

चित्रकला प्रतियोगिता में दिखाया हुनर
बून्दी। बूंदी उत्सव के अंतर्गत मंगलवार को आर्ट गैलरी में चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई। प्रतियोगिता में चालीस नन्हे व युवा कलाकारों ने भाग लिया। सब जूनियर वर्ग में 6 बालकों ने चित्र बनाये। जूनियर वर्ग में 29 बालको ने एवं सीनियर वर्ग में 5 कलाकारों ने चित्र बनाये। नन्हे व युवा कलाकारों ने प्रतियोगिता में बून्दी विरासत से सम्बंधित चित्रांकन किया। जिसमें हाडी रानी , बून्दी शैली, चौगान दरवाजा, गढ़ पैलेस, उत्सव की उमंग, चौरासी खम्भों की छतरी, पानी बचाओ के संदेश सहित मनोहारी चित्र बनाए।

प्रतियोगिता में सब जूनियर वर्ग में प्रथम राधिका शर्मा, द्वितीय मनीषा एव तृतीय हिरण्यवी रही। जूनियर वर्ग में प्रथम रौनक गुर्जर, द्वितीय अर्णव जैन तथा तृतीय वंश रहे । सीनियर वर्ग में किरण प्रथम,  अनुष्का शर्मा द्वितीय,  ज्योति शर्मा तृतीय रहीं। दिव्यांग वर्ग में सौरभ मीना की चित्रकारी सर्वश्रेष्ठ रही।  निर्णायक की भूमिका में आभा शर्मा , ममता बनवाल व नंजी शर्मा रहे । प्रतियोगिता का शुभारंभ जिला प्रमुख श्रीमती चंद्रावती कंवर ने किया। उन्होंने प्रतियोगिता का अवलोकन कर सभी चित्रकारों को बधाई दी।