बूंदी: हत्या के पांच वर्ष पुराने मामले में आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई

 
हत्या के पांच वर्ष पुराने मामले में आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई

बूंदी। न्यायालय एसटी-एससी कोर्ट ने हत्या के पांच वर्ष पुराने मामले में आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई हैं। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से विशिष्ट लोक अभियोजक राजेन्द्र कुमार जैन ने पैरवी करते हुए 20 दस्तावेज ओर 18 गवाह पेश किये।

घटनाक्रम के मुताबिक, 5 जुलाई 2016 को शाम के समय ग्राम बलवन थाना इंद्रगढ़ निवासी सुनील पुत्र सत्यनारायण गोस्वामी बरामदे में सोयाबीन के बीज को चाल रहा था, उसी समय आरोपी शिवराज पुत्र मांगीलाल गुर्जर निवासी बलवन हाथ में पेट्रोल से भरी बोतल लेकर आया ओर आते ही सुनील के ऊपर ड़ाल दी और माचिस की तिल्ली से आग लगा दी। जिससे झुलसे सुनील को गंभीर हालत में कोटा डठठै में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान 8 जुलाई को उसकी मौत हो गई।

इस घटना की रिपोर्ट मृतक युवक ने थाना इंद्रगढ़ को दी, जिस पर पुलिस ने धारा 307, 326, 450 पचब में मामला दर्ज किया था। मजरूब की इलाज के दौरान मोत होने के बाद धारा 302 में मामला दर्ज कर अनुसंधान किया। बाद अनुसंधान पुलिस ने उक्त धाराओं में चालान न्यायालय में पेश किया। उक्त मामले में न्यायालय एससी एसटी कोर्ट के न्यायाधीश श्रीमती रेखा वधवा ने आज 22 नवंबर को भरी अदालत में फैसला सुनाते आरोपी शिवराज उर्फ बंटी निवासी बलवन थाना इंद्रगढ़ को दोषी मानते हुए आजीवन कठोर कारावास की सजा से दण्डित किया गया है।