बून्दी में बाल अधिकार संरक्षण की दिशा में बेहतर कार्य, विशेष प्रोजक्ट भी बनाएं- संगीता बेनीवाल

 - राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष का बून्दी दौरा
 
बून्दी में बाल अधिकार संरक्षण की दिशा में बेहतर कार्य

बून्दी। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती संगीता बेनीवाल सोमवार को बूंदी दौरे पर रही। उन्होंने यहां विभिन्न स्थानों पर निरीक्षण किए और जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिए।

विशेष प्रोजक्ट भी बनाएं- संगीता बेनीवाल

बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में जिला प्रशासन, पुलिस एवं सम्बन्धित संस्थाओं द्वारा जिले में बालकों के हित में हुए कार्याे की सराहना की। उन्होंने कहा कि जिले में बाल अधिकारों की दिशा में बेहतर कार्य हो रहा है लेकिन क्षेत्र विशेष में अवांछित गतिविधियों में इनका लिप्त होना चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों पर अंकुश के लिए विशेष प्रोजेक्ट बनाकर कार्य करने की आवश्यकता है। ऐसे लोगों को कौशल एवं शिक्षा से जोड़कर समाज की मुख्यधारा में लाया जाए। आयोग इस कार्य में पूरी तरह सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण जिले में अच्छा चल रहा है लेकिन ड्रॉपआउट विद्यार्थियों या अन्य किसी कारण से विद्यालयों से वंचित वर्ग को जल्द से जल्द टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाए। सभी विद्यालयों में सभी आवश्यक फोन नंबर की सूची आवश्यक रूप से होनी चाहिए ताकि विद्यार्थी आवश्यकता पड़ने पर उनका इस्तेमाल कर सकें। आयोग अध्यक्ष ने बाल कल्याण समिति, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम विभाग एवं संबंधित अन्य विभागों तथा संस्थाओं के प्रतिनिधियों से बाल संरक्षण की दिशा में किए जा रहे कार्यों की जानकारी ली।

 राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष का बून्दी दौरा

बैठक में जिला कलक्टर रेणु जयपाल ने कहा कि बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग के मार्गदर्शन में और बेहतर कार्य किया जाएगा। पुलिस अधीक्षक जय यादव ने पुलिस द्वारा किए गए कार्याे एवं आगामी कार्य योजना की जानकारी दी। बैठक में एडीएम एयू खान, एसडीएम कमल कुमार मीणा एवं जिला स्तरीय अधिकारी, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार, तेजस्विनी खुला आश्रय गृह की संचालिका मृदुला औदिच्य, एक्शन एड के मांगीलाल शेखर एवं सम्बन्धित अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

निरीक्षण कर जांची व्यवस्थाएं
राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष ने विकास नगर विद्यालय में 15 से 18आयु वर्ग के कोविड-19 टीकाकरण का निरीक्षण किया और छात्राओं से बातचीत कर फीडबैक लिया। अस्पताल के कुपोषण उपचार वार्ड का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखीं और भर्ती बालकों के अभिभावकों से व्यवस्थाओं की जानकारी ली। पीएमओ डॉ.राकेश तनेजा से कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर बच्चों के उपचार हेतु अस्पताल के इंतजामों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि बच्चों के कोविड वार्ड को शीघ्र तैयार किया जाए। बाल आयोग अध्यक्ष ने चाइल्ड लाइन के कार्यालय का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखी और आवश्यक निर्देश दिए।

तेजस्विनी खुला आश्रय गृह मे बच्चों से बातचीत की और उपहार दिए। बालक बालिकाओं को पढ़ने और अच्छा नागरिक बनने की सीख दी। संप्रेषण गृह, शिशु गृह, किशोर न्याय बोर्ड, बाल कल्याण समिति का भी निरीक्षण किया और आवश्यक निर्देश दिए। किशोर न्याय बोर्ड अध्यक्ष श्रीमती डिंपल जन्डेल से मुलाकात की। बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार, सदस्य मीनाक्षी मेवाडा, छुट्टनलाल शर्मा, घनश्याम दुबे, रोहित कुमार, किशोर न्याय बोर्ड सदस्य भी मौजूद रहे।