बूंदी : दरिंदो को सजा दिलाने पर एसपी का स्वागत, न्यायपालिका का आभार, जों फ़ैसला आया हैं वो सर्वत्र ही सराहनीय हैं-रूपेश शर्मा

 
Welcome to the SP for punishing the poor, thanks to the judiciary, the decision that has come is commendable everywhere - Rupesh Sharma

बूंदी। पहली बार नाबालिक बालिका के साथ गिनोना कार्य कर हत्या करने के मामले में न्यायालय द्वारा फैसला बहुत ही शानदार रहा। न्यायपालिका का बूंदी जिले में ऐसा पहला मामला है। इसके लिए न्यायपालिका का बहुत आभार। साथ ही जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव द्वारा एक विशेष टीम तैयार कर इस केस को बहुत जल्दी अपने अंजाम तक पहुंचाने में बहुत सराहनीय भूमिका रही।

एसपी जय यादव द्वारा पूरे जिले में अपराधियों के खिलाफ विशेष मुहिम चलाकर बहुत ही सराहनीय कार्य कर रहे है। आज इस फैसले को सुनकर काजल सैनी एवं पार्वती मीणा ने न्यायपालिका और पुलिस अधीक्षक जय यादव का स्वागत पुष्पगुच्छ भेंट कर मीठाई खिलाकर बधाई दी। इस दौरान सुरेंद्र शर्मा, चन्द्र सिंह राजपुरोहित, मनोज, सुरेंद्र, खुशी राम चोपड़ा, चन्दन शर्मा उपस्थित थे।

दरिंदो के अपराध के विरुद्ध यें निर्णय एक नज़ीर हैं- रूपेश शर्मा
फैसले पर भाजपा नेता रूपेश र्श्मा ने कहा कि गत चार माह पूर्व काला कुँआ की पन्द्रह वर्षीय भील बालिका के साथ हुई वहशी दरिंदगी व नृशंस हत्या के जघन्य क्रूर अपराध की घटना के बाद न्यायलय बूंदी का जों फ़ैसला आया हैं वो सर्वत्र ही सराहनीय हैं, ऐसे समाज विरोधी विषैले सर्पों के लियें फाँसी की सज़ा की लगातार मांग की जा रही थी और इससे कम सज़ा किसी भी क़ीमत पर समाज को मंज़ूर नही थी, माननीय न्यायालय का यें ऐतिहासिक निर्णय ऐसे बीमार मानसिकता वाले दरिंदो के अपराध के विरुद्ध यें निर्णय एक नज़ीर हैं और इसका में ह्रदय से स्वागत करता हूँ। इस फ़ैसलों से भविष्य में ऐसा बुरा सोचने और उसे क़ारित करने वाले बीमार मानसिकता वाले लोगों को यें निर्णय ज़रूर कुछ याद दिलायेगा, यें ऐसे लोगों को एक ठोस सबक़ हैं।

भाजपा नेता रूपेश शर्मा ने ज़िला पुलिस अधीक्षक जय यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरीलाल, सीआई अरविंद भारद्वाज, पुलिस कर्मी राकेश बैंसला, महेश पाराशर सहित अभियान में सजगता से जुड़े रहें मीडियाकर्मी, मुलज़िमों की पैरवी न करने का निर्णय लेने वाले सभी अभिभाषक ़गण सहित सभी पुलिस अधिकारी व कर्मचारीयों के टीम वर्क की सराहना की और प्रदेश में लगातार बच्चियों एवं महिलाओं के साथ बढ़ रही ऐसी दरिंदगी की घटनाओं पर अन्य जिले के पुलिस अधिकारियों व कर्मियों से पुरज़ोर सख़्ती से कार्यवाही कर अपराध नियंत्रण की माँग की हैं।