पर्यावरण प्रेमी किसान हेमराज मीणा के जीवन की अनौखी कहानी - इधर-उधर से बीज लाकर किये विभिन्न प्रकार के 2 लाख पौधे तैयार

 - बीज से पौध तैयार कर आज स्कुल में लगाये एक सो पौधे
 
Fraud case: Farmer leader Sandeep Purohit sentenced to 3 years imprisonment

बूंदी। नैनवां उपखंड के पिपरवाला गांव निवासी पर्यावरण प्रेमी किसान हेमराज मीणा (Environment lover farmer Hemraj Meena resident of Piparwala village of Nainwan subdivision) पूरे साल खेती के साथ पर्यावरण सहेजने व सामाजिक कार्यों में लगे रहते है। जो शनिवार को सो पौधे को लेकर सीनियर सेकेंडरी स्कूल केथूदा पहुंचे, जहां अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी रामप्रसाद मीणा, प्रधानाचार्य भजनलाल मीणा व स्टाफ के साथ मिलकर पौधे लगाए।

कर रहे पर्यावरण बचाने का काम
हेमराज मीणा विभिन्न किस्मों के पेड़ पौधों के बीज इधर उधर से लाकर पौध तैयार करते हैं अब तक करीब दो लाख पौधे तैयार कर लोगों को समर्पित कर चुके है। जिसमें कई प्रकार की किस्मों के पौधे शामिल है। इसके लिए यह किसी से सहायता नहीं लेते बल्कि खुद मजदूरी करके यह खर्चा वहन करते हैं। हेमराज मीणा पर्यावरण बचाने के साथ ही मानव जीवन एवं पशुधन बचाने एवं समाज सेवा में भी अग्रणी रहते आए हैं। उन्होंने अपने जीवन काल में कई डूबते व मुसिबत मे फंसे लोगों को बचाया। वहीं कई पशुओं एव जंगली जानवरों को भी बचाने में अपना योगदान दिया है।

हेमराज मीणा 1986 यानी पिछले 35 साल से अब तक पर्यावरण संरक्षण व उत्कृष्ट कार्य कर रहे हैं। अभी तक बीज से 2 लाख पौध विभिन्न प्रकार के खुद तैयार किये व निःशुल्क देकर लगवा चुके हैं। जिसके लिए उन्हें कई बार जिला कलेक्टर, एसडीएम, वन विभाग द्वारा सम्मानित किया जा चुका है।

शिक्षक संघ राष्ट्रीय नैनवा की शिक्षको से अपील
शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी पंकज जैन, अध्यक्ष सुगनचंद मीणा ने बताया कि आज का पौधारोपण अगली पीढ़ी के लिए तोहफा है, कोरोंना मे हमने देख लिया पेड़ पोधो की कितनी आवश्यकता है। भारत जैसे विकासशील देश में कार्बन उत्सर्जन अधिक मात्रा में होता है, जिसके लिए ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाना ही एकमात्र समाधान है। हमारा देश अभी इस स्थिति में नहीं है कि कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए उद्योगों पर रोक लगा सके। इसलिए अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाना न केवल पर्यावरण के लिए आवश्यक है, बल्कि देश के विकास की गति को बनाये रखने के लिए भी अनिवार्य है। पर्यावरण प्रेमी हेमराज मीणा ने कहा कि सरकारी विद्यालयो में पौधारोपण करवाने मे शिक्षक संघ राष्ट्रीय अपील करने में मेरा सहयोग करे, विद्यालयों से सूचना लेकर मुझे बताए ताकि खुद जाकर निशुल्क लगा सकू।