कलेक्ट्रेट एवं न्यायालय परिसर में अव्यवस्थित पार्किंग को लेकर कलेक्टर ने दिये निर्देश, अब ऐसे होगी पार्किंग व्यवस्था

अभिभाषक परिषद ने कलेक्टर से मिलकर पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त करने की करी थी मांग 
 
The collector gave instructions regarding disorderly parking in the collectorate and court premises, now the parking arrangement will be like this

बूंदी। जिला कलेक्ट्रेट एवं न्यायालय परिसर में अव्यवस्थित पार्किंग (Disorganized parking in district collectorate and court premises) व्यवस्था को दुरुस्त (fix the system) करने के लिए अतिरिक्त जिला कलेक्टर करतार सिंह, उपखंड अधिकारी हेमराज परिडवाल, नगर परिषद आयुक्त महावीर सिंह सिसोदिया, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने अभिभाषक परिषद अध्यक्ष आनंद सिंह नरूका, उपाध्यक्ष राजीव लोचन गौत्तम, सचिव मुकेश गोत्तम के साथ अवलोकन कर बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के बाद जिला कलेक्टर डॉ. रविंद्र गोस्वामी न इसके लिऐ निर्देश जारी किए है। गौरतलब है कि अभिभाषक परिषद के पदाधिकारियों ने कलेक्टर से मिलकर पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग की थी।

जिला कलेक्टर ने नगर परिषद को निर्देश दिए कि मुंसिफ न्यायालय परिसर के पीछे रिक्त पड़ी जमीन की साफ सफाई करवा कर दोपहिया वाहन के लिए रिजर्व कर दिया जाए। सार्वजनिक निर्माण विभाग से कहा कि जिला एवं सेशन न्यायाधीश कोर्ट के बाहर मेन गेट के निकट पार्क की दीवार में गेट बनाकर पार्क के अंदर दोपहिया वाहनों की पार्किंग की जाए, जिसमें वकील व उनके मुवक्किल दोपहिया वाहनों को खड़ा कर सकें। अभिभाषक परिषद पदाधिकारियों से हुई वार्तानुसार निर्णय लिया कि समस्त बार एसोसिएशन के वकील अपने वाहनों पर बार एसोसिएशन का स्टीकर चिपकाएंगे, जिससे वकीलों के वाहनों की पहचान कर व्यवस्थित खड़ा करवाया जा सके। कलेक्ट्रेट कार्यालय के मुख्य दरवाजे के बाहर रोड किनारे खाली पड़ी भूमि को भी पार्किंग के रूप में उपयोग लेकर मुवक्कीलो व अधिकृत टाइपिस्ट व मुंशियों के वाहन खड़े किये जाए।

कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित सभी कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारी भी वाहनों पर स्टीकर लगाएंगे, स्टिकर का प्रारूप भी निर्धारित किया जाएगा। नगर परिषद को निर्देश दिए कि मुख्य गेट से कलेक्ट्रेट कार्यालय तक दोनों तरफ सफेद रंग की पक्की रेखा खींचवाए, जिसके अंदर केवल अधिवक्ताओं के वाहन ही खड़े करने की अनुमति होगी। पार्किंग स्थल के बाहर एवं महारानी राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय से राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बूंदी के साथ वाली दीवार के समस्त अतिक्रमण हटाकर सात दिवस में पालना रिपोर्ट लिखित में पेश करें। साथ ही यातायात प्रभारी से संपर्क कर ऑटो रिक्शा चिन्हित स्थल पर खड़ा करने के लिए पाबंद करें।

नगर परिषद को निर्देश दिए कि कलेक्ट्रेट एवं जिला न्यायालय परिसर में बाहर से आने वाले वाहनों के स्टैंड के लिए टेंडर प्रक्रिया अपना कर वाहनों को व्यवस्थित खड़े करावंे, समस्त कार्यालय के अधिकारी एवं बार एसोसिएशन के अध्यक्ष, यातायात व्यवस्था के पर्यवेक्षण सुचारू करने में सहयोग करेंगे। कलेक्टर कार्यालय परिसर एवं जिला न्यायालय परिसर में कार्यरत कर्मचारी अपने विभाग के निर्धारित स्थल पर ही वाहनों को खड़ा करें। अनाधिकृत वाहन के विरुद्ध यातायात नियमो के अनुसार कार्यवाही कि जाये।