Bundi : डकैती के आरोपी को 28 साल बाद किया गिरफ्तार, नाम बदल कर एमपी में कर रहा था मजदूरी

 -बूंदी पुलिस के टॉप टेन की सूची में शामिल ₹4000 का इनामी है आरोपी
 
The accused of robbery was arrested after 28 years, was changing his name and doing wages in MP

बूंदी। डकैती के मामले में 28 साल से फरार (Absconding for 28 years in robbery case) चल रहे स्थाई वारंटी (permanent warranty) भीलवाड़ा जिले में थाना पण्डेर के गांव झालरा निवासी रतनीया उर्फ नंदा पुत्र भैरू लाल भील को दबलाना थाना पुलिस ने गांव बामण बरडी थाना जावद जिला नीमच मध्य प्रदेश से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की (succeeded in arresting) है। जहां आरोपी फर्जी आधार कार्ड और वोटर आईडी बनवा कर मजदूरी कर फरारी काट रहा था।

 बूंदी एसपी जय यादव ने बताया कि थाना हिंडोली में साल 1994 में दर्ज डकैती के मुकदमे में आरोपी रतनिया भील 28 साल से फरार चल रहा था। जिसे हिंडोली कोर्ट द्वारा स्थाई वारंटी घोषित किया गया था। आरोपी को जिले की टॉप टेन वांछित अपराधियों की श्रेणी में चयनित कर ₹4000 का इनाम भी घोषित किया गया था।

एसपी यादव ने बताया कि जिला स्तर पर चयनित टॉप टेन फरार अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए दिए गए आदेश पर दबलाना थाना अधिकारी रामेश्वर प्रसाद मय टीम द्वारा आरोपी के छिपने के ठिकानों को ट्रेस किया गया तथा बिजोलिया निंबाहेड़ा पण्डेर में काफी तलाश किया। गुप्त सूत्रों से जानकारी की तो आरोपी के नीमच में छुपे होने की जानकारी मिली। इस पर टीम के कॉन्स्टेबल भागचंद व रमेश आरोपी को नीमच के बामण बरडी गांव से दस्तयाब कर थाने लाए। जिसे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।