दुष्कर्म के आरोपी को सुनाई आजीवन कारावास कि सजा एवं 2 लाख रूपये के आर्थिक दंड से किया दंडित

 
Sentenced to life imprisonment and fined Rs 2 lakh to the accused of rape

 बूंदी। जिले के हिंडोली थाने (Hindoli Police Station) करीब 3 साल पुर्व दर्ज हुए नाबालिग से दुष्कर्म के मामले (minor rape cases) में न्यायालय पोक्सो कोर्ट क्र.-1 ने (Court POCSO Court No.-1) आरोपी सियाराम मीणा को आजीवन कारावास की सजा एवं 2लाख 15 हजार रूपये के आर्थिक दंड से दंडित (Punished with life imprisonment and a fine of Rs 2 lakh 15 thousand) किया है। उक्त प्रकरण में अभियोजन पक्ष कि ओर से विशिष्ट लोक अभियोजक पोक्सो कोर्ट क्र. 1 राकेश ठाकुर ने पैरवी करते हुए 18गवाह, 20 दस्तावेज पेश किये।

 घटनाक्रम के मुताबिक 8 जुलाई 2019 को पीड़िता ने अपने पिता के साथ हिंडोली थाने में रिपोर्ट पेश कर बताया कि 1 मई 2018 को परिवादिया अपनी पुत्री के साथ अपने पीहर आई हुई थी तभी 3 मई 2018 को उसकी नाबालिग पुत्री हाथ मुंह धोने गई जो वापस लौट कर नहीं आई। जिस पर परिवादिया और उसके पीहर वालों ने सभी जगह तलाश किया पर वह कही भी नहीं मिली। उक्त प्रकरण में पुलिस ने धारा 363, 366 आईपीसी में मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया।

अनुसंधान एवं साक्ष्यों के आधार पर सियाराम पुत्र रामस्वरूप मीणा उम्र 23 साल निवासी केथूनी थाना खानपुर जिला झालावाड़ के विरुद्ध अपराध प्रमाणित पाये जाने पर धारा 363, 366, 376 आईपीसी पोक्सो एक्ट में चालान न्यायालय में पेश किया गया। उक्त प्रकरण में 2 सितंबर शुक्रवार को विशिष्ट न्यायाधीश पोक्सो क्रम संख्या एक बूंदी सलीम बदर ने निर्णय सुनाते हुए अभियुक्त सियाराम पुत्र रामस्वरूप मीणा 23 साल निवासी केथुनी थाना खानपुर जिला झालावाड़ को धारा 363 में 5 वर्ष के कठोर कारावास एवं 5000 हजार रूपय जुर्माना, धारा 366 में 7 वर्ष के कठोर कारावास एवं 10 हजार रूपये का जुर्माना एवं पोक्सो एक्ट में आजीवन कारावास एवं 2 लाख हजार रूपये जुर्माना कि सजा से दंडित किया गया है।