सऊदी अरब से भारतीय नागरिक का शव लाने के लिये राष्ट्रपति सचिवालय में याचिका, मानवाधिकारआयोग में भी शिकायत दर्ज

बूंदी के कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने दायर की याचिका
6 जुलाई को हुयी थी अमेठी के जंगबहादुर की सउदी अरब में हत्या
शव के इंतजार में दिन-रात आँसू बहा रहा पीड़ित परिवार
 
Petition in President's Secretariat to bring dead body of Indian citizen from Saudi Arabia, complaint also filed in Human Rights Commission

बूंदी। सउदी अरब में मृत भारतीय नागरिक जंगबहादुर यादव की दिवंगत देह (Dead body of Indian citizen Jang Bahadur Yadav dead in Saudi Arabia) को शीघ्र सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिये उनके परिवार के पास भारत लाने के लिये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम राष्ट्रपति सचिवालय में याचिका दायर की गयी है वहीं राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग में भी इस विषय में अधिकृत शिकायत दर्ज हुयी है। विदेश में संकटग्रस्त भारतीयों की सहायता के लिये कार्य करने वाले बूंदी के कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने राष्ट्रपति सचिवालय में याचिका व मानव अधिकार आयोग में शिकायत दर्ज करवाने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री एस जयशंकर, विदेश सचिव विनय क्वात्रा व सउदी अरब में भारतीय राजदूत को भी मेल भेजकर भारत सरकार से त्वरित कार्यवाही की मांग की है।

शर्मा की ओर से 11 जुलाई को राष्ट्रपति सचिवालय में दायर याचिका में कहा गया है कि भारतीय नागरिक उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के निवासी स्व.जंगबहादुर यादव की दिवंगत देह को सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिये शीघ्र उनके परिवार के पास भारत पहुंचाया जाना चाहिये।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम दायर याचिका में कहा गया है कि विगत 6 जुलाई को उत्तरप्रदेश के अमेठी जिले के निवासी निर्दाेष भारतीय नागरिक जंगबहादुर यादव की सउदी अरब में एक पाकिस्तानी ने हत्या कर दी है।जिसके बाद से ही उनका परिवार सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिये स्व.जंगबहादुर की दिवंगत देह के भारत आने की प्रतीक्षा कर रहा है।सउदी अरब में फंसे हुये राजस्थान के निवासी भारतीय नागरिकों ने चर्मेश शर्मा को गत दिनों भारतीय नागरिक जंगबहादुर की हत्या होने के मामले की जानकारी दी थी।

हत्यारे के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करवाये भारत सरकार
सउदी अरब में भारतीय नागरिक की हत्या पर बूंदी के कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा की ओर से राष्ट्रपति सचिवालय में दायर याचिका और राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग में दर्ज शिकायत में कहा गया है कि सउदी अरब में एक निर्दाेष भारतीय नागरिक की हत्या पर भारत सरकार को हत्यारे पाकिस्तानी नागरिक के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करवानी चाहिये। अपनी याचिका में भारत सरकार से उन्होंने भारतीय नागरिक की हत्या पर सऊदी अरब की सरकार के समक्ष कड़ा आधिकारिक प्रतिरोध जताने की मांग उठायी है। याचिका में कहा गया है कि भारतीय नागरिक के हत्यारे के विरुद्ध ऐसी कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिये कि भविष्य में किसी भी भारतीय नागरिक के साथ इस तरह की घटना नहीं हो।

शव के लिये दिन-रात आंसू बहा रहा परिवार
दिवंगत भारतीय नागरिक जंगबहादुर  के परिवार में वृद्ध पिता राज नारायण यादव, माँ रामावती देवी,उनकी धर्मपत्नी मंजू के साथ अभी पढायी कर रहे तीन बच्चे 19 वर्षीय पुत्र सौरभ, 17 वर्षीय पुत्री अंजली व 12 वर्षीय छोटा पुत्र गौरव है। याचिका में कहा गया है कि उनकी मृत्यु की सूचना के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।पूरा परिवार दिवंगत देह के भारत आने की प्रतीक्षा में दिन-रात आंसू बहा रहा है।

पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये की सहायता दी जाये
भारतीय नागरिक जंगबहादुर यादव अपने परिवार में इकलौते कमाने वाले थे और वह 2017 में अपने परिवार के पालन पोषण के लिये ही सऊदी अरब गये थे।सउदी अरब में जंगबहादुर यादव की हत्या के बाद उनके परिवार के पास आय का कोई साधन नहीं रहा है। कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग से सरकार को पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की भी मांग रखी है।