बूंदी शहर में गौवंश में लंपी का कहर, प्रशासन को सूचना देने के बावजूद देर रात तक लंपीग्रस्त गाय को कोई उठाने वाला नहीं

- कांग्रेस नेताओं ने एडीएम से की प्रभावी कार्यवाही के साथ नियंत्रण कक्ष खोलने की मांग
-लंपीग्रस्त गौवंश के खुले में रहने से संक्रमण फैलने का खतरा 
 
Lumpy's havoc in the cow dynasty in Bundi city, despite informing the administration, no one is going to lift the lumpy cow till late night

बूंदी। बूंदी शहर में गौवंश में में लंपी बीमारी का कहर शुरू (In Bundi city, the havoc of the disease started in the cow dynasty) हो गया है और प्रशासन की इस महामारी से निपटने की सारी व्यवस्था महज कागजों में ही नजर आ रही है। बुधवार को वार्ड नंबर 17 तलायी मोहल्ले में लंपीग्रस्त गाय सुबह से ही तड़पती हुयी एक स्थान पर पड़ी हुयी थी। बुधवार सांय कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल के एडीएम करतार सिंह से मिलने के बाद गाय की चिकित्सा के लिए कांग्रेस नेताओं के साथ पशुपालन विभाग की टीम तो पहुंची लेकिन देर रात तक भी लंपीग्रस्त गोवंश को उठाकर आइसोलेशन सेंटर नहीं ले जाया जा सका। यह भी उल्लेखनीय है कि प्रातः 11 बजे इसकी सूचना पशुपालन विभाग व नगर परिषद को दे दी गयी। लेकिन लापरवाही का ऐसा आलम रहा कि सांय 4 बजे तक गाय को कोई देखने भी नहीं पहुंचा।

Lumpy's havoc in the cow dynasty in Bundi city, despite informing the administration, no one is going to lift the lumpy cow till late night

कोई कार्यवाही नहीं होता देख क्षेत्रीय पार्षद साबिर खान ने कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा को सारी स्थिति से अवगत करवाया। जिसके बाद शर्मा के साथ क्षेत्रीय पार्षद साबिर खान, पार्षद अंकित बूलीवाल, राकेश मेघवाल आदि कांग्रेस नेता अतिरिक्त जिला कलेक्टर  करतार सिंह से मिले और लंपी के गंभीर मामले में प्रशासनिक लापरवाही पर कड़ा आक्रोश जताया तब जाकर प्रशासन हरकत में आया। एडीएम द्वारा पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक को कार्यवाही के निर्देश देने के बाद कांग्रेस नेताओं के साथ पशुपालन विभाग की टीम गाय की चिकित्सा के लिए पहुंची।

गुरुवार से शुरू होगा लंपी नियंत्रण कक्ष
कांग्रेस नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने एडीएम करतार सिंह से लंपी महामारी की प्रभावी रोकथाम के लिए जिला कलेक्ट्रेट में नियंत्रण कक्ष शुरू करने की मांग रखी। कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने कहा कि इस विषय में प्रशासन को गंभीरता के साथ 24 घंटे क्रियाशील नियंत्रण कक्ष प्रारंभ करना चाहिये। जिस पर एडीएम ने गुरुवार से ही जिला कलेक्ट्रेट में लंपी महामारी के संदर्भ में नियंत्रण कक्ष प्रारंभ करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने बताया कि नियंत्रण कक्ष का दूरभाष 0747-2442305 रहेगा।

104 डिग्री से अधिक बुखार में तड़प रही थी गाय
पशुपालन विभाग की टीम जब तलायी मोहल्ले में पीड़ित गाय की चिकित्सा के लिये पहुंची तो थर्मामीटर से जांच के बाद सामने आया कि 104 डिग्री से अधिक बुखार में गाय तड़प रही थी। पशुपालन विभाग की ओर से टीम प्रभारी डॉ रामलाल मीणा ने तत्काल गाय की चिकित्सा शुरू की और इंजेक्शन लगाये। उन्होंने गाय के आइसोलेशन सेंटर में पहुंचने की आवश्यकता जतायी, लेकिन संसाधनों के अभाव में इस विषय में प्रशासन की ओर से असमर्थता जता दी।