जागृति अभियान यात्रा : महासंघ कर्मचारियों की मांगों के लिए राज्यव्यापी चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा

महासंघ द्वारा कर्मचारी जागृति अभियान यात्रा बूंदी पहुंची 
 
Jagriti Abhiyan Yatra: Statewide phased agitation announced for the demands of federation employees

बूंदी। All Rajasthan State Employees Joint Federation- अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ (एकीकृत) कि कर्मचारी जागृति अभियान यात्रा (Employee Awareness Campaign Tour) रविवार को जिले में पहुंची। महासंघ प्रमुख महेंद्र सिंह, प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राना ने राज्यव्यापी आंदोलन की घोषणा (Statewide Movement Declaration) करते हुए बताया कि सरकार द्वारा लगभग चार वर्ष से नियमितिकरण की बाट जोह रहे आर्थिक रूप से शोषित संविदा, निविदा, मानदेय भोगी कर्मचारियों के भरोसे को तो तोड़ा ही है, वही दूसरी ओर वेतन विसंगति दूर होने की बाट जोह रहे नियमित कार्मिकों के वेतन में वृद्धि की बजाय, हाल ही में 31मई 2022 को वित्त विभाग ने आदेश जारी कर एसीपी नियमो में संसोधन करते हुए लाखों कार्मिकों के मूल वेतन में 900 रूपये प्रतिमाह तक की कटोती कर आर्थिक कुठाराघात किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

Jagriti Abhiyan Yatra: Statewide phased agitation announced for the demands of federation employees

वहीं डीसी सावंत कमेटी की रिपोर्ट को ठंडे बस्ते में डाल खेमराज कमेटी का कार्यकाल लगातार बढ़ाना कर्मचारी हितैषी सोच का प्रतीक नहीं है। जिससे कर्मचारियों में असंतोष व्याप्त है। महासंघ द्वारा सरकार को 15 अगस्त तक का समय दिया गया था, परंतु सरकार द्वारा कोई सुनवाई नही होने से कर्मचारीयो में आक्रोश में है। इसलिए महासंघ मांगों के लिए राज्य भर में आंदोलन  के लिए विवश है। महासंघ प्रदेश महामंत्री विपिन प्रकाश शर्मा ने बताया कि  कर्मचारी आंदोलन के प्रथम चरण में कर्मचारी जागृति अभियान शुरू किया गया है, राज्यव्यापी आंदोलन के इस चरण में 24 अगस्त से 13 सितंबर 2022 तक कर्मचारी जाग्रति अभियान तथा 14 सितंबर 2022 को राज्य भर के जिला कलेक्टर कार्यालयों  पर प्रदर्शन किया जायेगा।

महासंघ बूंदी जिला अध्यक्ष अनीस अहमद ने बताया की प्रमुख मांगों में, सभी विभागों, निगम, बोर्डाे में कार्यरत संविदा,निविदा (ठेका), मानदेय भोगी कार्मिकों का नियमितीकरण एवं उनके  वेतन में नियमित पद अनुरूप  वृद्धि , राजकीय विभागों में नियमित पदों पर ठेकेदारों द्वारा भर्ती पर रोक तथा चतुर्थ श्रेणी,सफाई कर्मी इत्यादि पदों पर नियमित भर्ती, नियमित कर्मचारियों के वेतनमान में की गई कटौती वापिस लेने,लंबित वेतन भत्तों की विसंगति केंद्र के समान दूर करने, एसीपी परिलाभ 9, 18, 27 वर्ष के स्थान पर 7,14, 21, 28 वर्ष करने,  संविदा काल को पेंशन परिलाभ में जोड़ने 2 वर्ष की संविदा सेवा से नियमित होने वाले कार्मिकों का परिवीक्षा काल समाप्त करने,  विभिन्न संवर्गाे जैसे लैब टेक्नीशियन, रेडियोग्राफर, नर्सिंग ट्यूटर, लैब असिस्टेंट, पशुधन सहायक, इत्यादि संवर्ग  के लंबित पदनाम परिवर्तन शीघ्र करने, तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण,शिक्षकों के पदोन्नति के नये शिक्षा नियमों में संशोधन, विभिन्न संवर्गाे , प्रबोधक, शिक्षक, नर्सेज, रेडियोग्राफर, लैब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट, पशुधन सहायक, लैब असिस्टेंट ,मंत्रालयिक कर्मी, जलदाय विभाग हेल्पर्स, इत्यादि के पदोन्नति संबधी पदों में अपेक्षित वृद्धि हेतु कैडर रिव्यू करवाने तथा लंबित पदोन्नतियां शीघ्र किये जाये ,जेल विभाग ,राजस्थान पुलिस,इत्यादि के कार्मिकों की वेतन विसंगति एवम वरिष्ठता आधरित पदोन्नति इत्यादि मांगे शामिल है।

इस अवसर पर महासंघ एकीकृत बून्दी के जिला महामंत्री अरुण शर्मा प्रदेश सलाहकार रविन्द्र चतुर्वेदी परबोधक संघ के जिलाध्यक्ष नूतन तिवारी रणजीत राजावत  नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत कीजिलाध्यक्ष ममता अजमेरा जितेंद्र चंदेल पंचायत सहायक संघ के जिलाध्यक्ष मनोज खटीक वरुण शर्मा शिक्षक संघ सियाराम के घनश्याम शर्मा अटल प्राथमिक माध्यमिक शिक्षक संघ के घनश्याम नकलक संस्कृत शिक्षक संघ के धर्मेंद्र गुर्जर आशा सहयोगिनी संघ से रेखा पराशर महासंघ नेनवा उपशाखा अध्यक्ष बाबूलाल शर्मा नर्सिंग टीचर एसोसिएशन से विजय गहलोत भीमराज प्रजापत शिक्षक कांग्रेस के मो कमाल राजस्थान सूचना तकनीकी संघ के राकेश सक्सेना मदरसा शिक्षा सहयोगी संघ के संजय खान मुख्य मंत्री निशुल्क दवा जांच योजना संघ से कवींद्र शर्मा धर्मराज जोशी राज राज्य नर्सेज एसोसिएशन एकीकृत नेनवा उपशाखा अध्यक्ष योगेंद्र महावर प्रेरक संघ के जिलाध्यक्ष सहित जिले भर के सेकड़ो नियमित एव संविदा कार्मिक मौजूद रहे।