Bundi : जिला टास्क फोर्स ने 3 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया, बाल कल्याण समिति के समक्ष किया पेश

 
Bundi: District Task Force freed 3 child laborers, presented before Child Welfare Committee

बूंदी। बाल कल्याण समिति मानव तस्करी विरोधी यूनिट (Child Welfare Committee Anti Human Trafficking Unit), श्रम विभाग (Labour Department), एक्शनएड (Action Aid), बचपन बचाओ आंदोलन (Bachpan Bachao Andolan) एवं डाबी थाना की संयुक्त कार्यवाही (Joint action of Dabi police station) में जिला टास्क फोर्स (District Task Force) ने बुधवार सूबह 7 बजे 3 बाल श्रमिकों का रेस्क्यू किया (Rescued 3 child laborers) गया।

जिला कलेक्टर के निर्देश पर जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव के पूर्ण सहयोग से बाल कल्याण समिति एवं संबंधित विभागों एवं स्वयं सेवी संथाओ ने संयुक्त कार्रवाई कर डाबी क्षेत्र में रेस्क्यू ऑपरेशन किया। जिला टास्क फोर्स ने तीन बालकों को बालश्रम से मुक्त कराया।

 एक्शनएड के मांगीलाल शेखर ने पूर्व में ऐसे बच्चों को चिन्हित किया और बताया की डाबी क्षेत्र में मध्यप्रदेश के झाबुआ एवं अन्य जगह के बच्चे पत्थर की खानों के पास जोखिम भरा काम कर रहे है, जिससे उनकी शिक्षा, स्वास्थ एवं अन्य बाल अधिकारों का हनन हो रहा है, जिसकी सूचना पर जिला रेस्क्यू दल ने आज डाबी से एक 12 वर्षीय बालक, डाबी बाजार से 2 बालकों का रेस्क्यू कर बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया गया। उन्होंने राजकीय किशोर गृह प्रवेश दिया गया है। 

बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष सीमा पोद्दार ने बताया कि जिले को बाल श्रम मुक्त बनाने में जिला प्रशासन, पुलिस, श्रम विभाग, मानव तस्करी विरोधी यूनिट पूरी तरह सजग है। बचपन बचाओ के जिला समन्वयक दीपक ने ठेकेदार के विरुद्ध एफआईआर पुलिस थाना डाबी में दर्ज कराई है।