24 वर्ष बाद अनुकम्पात्मक नियुक्ति नहीं मिलने पर सीएमएचओ कार्यालय में किया प्रदर्शन

- ईश्वर नहीं करें आपके किसी के बच्चों को यह दिन देखने पड़े
- आक्रोशित युवाओं ने सीएमएचओ का घेराव कर सुनायी खरी खरी
 
Demonstration in CMHO office for not getting compassionate appointment after 24 years

बूंदी। जिस स्वास्थ्य विभाग में पिता ने अपना पूरा जीवन खपा दिया। उनकी मृत्यु के 24 वर्ष बाद भी अनुकम्पात्मक नियुक्ति के लिये  उनके पुत्र को दर-दर भटकना पड़ रहा (Even after 24 years of death, his son has to wander from door to door for compassionate appointment.) है। स्वास्थ्य विभाग में नैनवां में वार्ड बॉय के पद पर कार्यरत रहे स्व. बाबूलाल गौड़ की 1998 में म्रत्यु के बाद अभी तक उनके स्थान पर पुत्र दुर्गेश गौड़ को अनुकम्पात्मक नियुक्ति नहीं मिलने के विरोध में गुरुवार को बड़ी संख्या में युवाओं ने सीएमएचओ कार्यालय पर कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा के नेतृत्व में  प्रदर्शन किया और सीएमएचओ का घेराव करते हुये इस मामले में तत्काल कार्यवाही की मांग को लेकर ज्ञापन दिया।

Demonstration in CMHO office for not getting compassionate appointment after 24 years

जुलूस के रूप में नारेबाजी के साथ सीएमएचओ कार्यालय पहुंचे आक्रोशित युवाओं ने स्वास्थ्य विभाग के विरोध में जमकर नारेबाजी की और मृत राज्य कर्मचारी के पुत्र दुर्गेश गौड़ को तत्काल नियुक्ति देने की मांग उठायी।

सीएमएचओ को सुनाई खरी खरी
24 वर्ष तक स्वास्थ्य विभाग के मृत राज्य कर्मचारी की पुत्र को न्याय नहीं मिलने के विरोध में युवाओं ने सीएमएचओ को खरी खरी सुनायी। अपने पिता की तस्वीर के साथ सीएमएचओ कार्यालय पहुंचे पीड़ित दुर्गेश गौड़ की अपनी पीड़ा बताते हुये आंखें भर आयी। कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने सीएमएचओ से स्पष्ट शब्दों में कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि स्वास्थ्य विभाग में अपने मृत राज्य कर्मचारी के परिवार के प्रति भी संवेदनाये नहीं है।उन्होंने कहा कि ईश्वर नहीं करे कि आपके बच्चो को कभी यह दिन देखने पड़े, लेकिन दुर्घटनाएं किसी के भी साथ घटित हो सकती है। शर्मा ने सीएमएचओ से कहा कि इस संवेदनशील विषय पर तो स्वास्थ्य विभाग को स्वयं मॉनिटरिंग करते हुये आगे होकर कार्यवाही करनी चाहिये थी।

नोडल ऑफिसर होगा नियुक्त
सीएमएचओ ने कहा कि जयपुर निदेशालय ने भी इस विषय में  रिपोर्ट मांगी है।और इस मामले में प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिये नोडल ऑफिसर की नियुक्ति की जायेगी। और बूंदी कार्यालय से फाइल लेकर जिम्मेदारी के साथ विशेष वाहक को जयपुर भेजा जायेगा।

प्रदर्शन में यह रहे शामिल
प्रदर्शन करने वालों में जिला कांग्रेस कमेटी अभाव अभियोग प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष महावीर मीणा, पार्षद रोहित बैरागी, प्रेमप्रकाश एवरग्रीन अंकित बूलीवाल, आशीष शर्मा, साबिर खान, अर्जुन डाबोडिया, हेमंत वर्मा, पूर्व पार्षद जितेंद्र दाधीच, कांग्रेस नेता हारून खान, कामगार कांग्रेस के जिलाध्यक्ष शिवम गुर्जर, रोहित शर्मा, पीयूष शर्मा गुल्लू, गौरव शर्मा, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के पूर्व जिला अध्यक्ष मोहसिन बेग, सैफ अली, शाहिद खाटावत, नावेद मुल्तानी, रामबिलास मीणा, कालूलाल गुर्जर, किसन गुर्जर, सत्यनारायण मीणा, दिनेश मीणा, देवलाल गुर्जर, महेंद्र गुर्जर, ब्रह्मप्रकाश गुर्जर, नरेंद्र, सोनू सिंह, भीम चौधरी आदि शामिल रहे। कांग्रेस की प्रवासी सहायता टीम के सदस्य पार्षद बूलीवाल ने बताया कि 7 दिन में इस मामले में प्रभावी कार्यवाही नहीं हुयी तो स्वास्थ्य विभाग से फिर जवाब मांगा जायेगा।