कुरीति के दलदल से निकलकर विवाह बंधन में बंधे, समाज की मुख्य धारा में शामिल हुए युवक-युवती

 
Coming out of the quagmire of kuriti, tied in marriage, joined the main stream of the society
बूंदी। समुदाय विशेष में व्याप्त कुरीति को त्यागकर मंगलवार को युवक-युवती विवाह बंधन में बंध गए (Young men and women tied the knot on Tuesday, abandoning the practice prevailing in a particular community.)। जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, बाल कल्याण समिति, समाज सेवी, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से मंगलवार को रामनगर स्कूल में विवाह आयोजन सम्पन्न कराया गया। इसमें जिला कलक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी, पुलिस अधीक्षक जय यादव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव सुनील यादव, नगर परिषद सभापति मधु नुवाल ने नव युगल को आशीर्वाद दिया।

जानकारी के अनुसार युवक युवती ने नगर परिषद बूंदी के वरिष्ठ पार्षद टीकम जैन से मिलकर कुरीतियों को त्याग कर समाज की मुख्यधारा में आने की इच्छा जताई। इस पर बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार, जनप्रतिनिधियों समाज सेवियों के सहयोग से तैयारियां शुरू की गई। विभिन्न समाजसेवी और संस्थाएं सहयोग के लिए आगे आए और विवाह का मंडप सज गया।

वरिष्ठ पार्षद टीकम जैन ने बताया कि रामनगर निवासी युवक एवं मोहनपुरा की युवति ने कुरीति से दूर हो आपसी सहमति से विवाह करने की इच्छा जताई। सभी से मिले सहयोग और प्रयासों से विवाह की रूपरेखा बनाई गई और तुरंत ही विवाह की तैयारियां शुरू कर दी गई। सदर थाना प्रभारी अरविंद भारद्वाज ने शादी में वधू पक्ष की ओर से कन्यादान की रस्म निभाई।  

इस अवसर पर सरपंच बबीता बाई, पार्षद रामराज अजमेरा, रेडक्रास सचिव अशोक विजय, आशीष शर्मा, धु्रव व्यास, छुट्टनलाल, पुरूषोत्तम पारीक, सकल जैन समाज अध्यक्ष ओमप्रकाश जैन, छेलुराम मीणा, बालकदास, जगदीश राजपुरोहित, राकेश सैनी आदि मौजूद रहे।