मोबाईल टॉवर से केबल चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाश, सरगना सहित दो गिरफतार

 
Cable theft gang busted from mobile tower, two arrested including the kingpin

बूंदी। मोबाईल टॉवर से केबल चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाश (Cable theft gang busted from mobile tower)  करते हुए लाखेरी थाना पुलिस ने वारदात का खुलासा किया (Lakheri police station disclosed the incident) । पुलिस ने चोरी करने वाली गैंग का सरगना दिलखुश बैरवा सहित रामकेश गुर्जर को गिरफ्तार (Ramkesh Gurjar arrested along with Dilkhush Bairwa, the kingpin of theft gang) करने में सफलता अर्जित कि है।

पुलिस के अनुसार जितेन्द्र सिंह पुत्र मोहन सिंह जाति राजपूत निवासी 3 बी रिधु नगर, गोविन्दपुरा कालवाङ रोङ झोटवाङा जयपुर हाल इंजिनियरिंग सर्विस में स्टेट ऑफिसर ने रिपोर्ट देकर बताया कि हमारी कंपनी रिलायंस जियो के टावर एंव फाईबर की देखभाल व मरम्मत संबंधित कार्य करती है। हमारा एक टावर गांव नाडी भावपुरा 9009 है। जिस पर से 17 जुलाई को लगभग दोपहर 1.15 बजे अलार्म आने पर साईट को सम्भाल रहे टैक्नीशियन रामेश्वर प्रसाद पुत्र हजारीलाल  तुरन्त साईट पर पहुंचा तो उसने देखा की दो चोर टावर पर लगी युएचके केबल चुराकर ले जा रहे थे। जिसकी कीमत लाखों में है। टैक्नीशियन द्वारा आवाज लगाने पर चोर कैबल को मौके पर छोङकर भाग गये। इसके बाद अपने स्तर पर चोरो को काफी तलाश किया। लेकिन उनका कोई पता नही चला। जिस पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया। 

पुलिस वारदात को गम्भीरता से लेते हुए महेश कुमार थानाधिकारी लाखेरी के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। विषेष टीम ने केबल चोरी की वारदात के बाद अपराधियों के आने-जाने के मार्गाे को चिन्हित करके सीसीटीवी केमरों के फुटेज निकाले। घटनास्थल के आसपास, होटल, ढाबांे पर करीब 50 व्यक्तियों से पुछताछ की गई। जिसमें सामने आया कि उक्त केबल चोरी की वारदात में सवाई माधोपुर की रोमियों गैग का हाथ हो सकता है। जिसका सरगना दिलखुश उर्फ गोलु है। इस पर महेश कुमार उ0नि0 व विशेष टीम ने सादा वस्त्रों में गैग के ठहरने के सम्भावित ठिकानों पर नजर रखना शुरू किया लगातार 2 दिन तक रैकी करने के बाद गैंग सरगना दिलखुश उर्फ गोलु पुत्र ओमप्रकाश बैरवा उम्र 21 साल निवासी जालपाखेडी थाना रवाजना डुंगर जिला सवाई माधोपुर व रामकेष गुर्जर पुत्र  बजरंग लाल उम्र 32 साल निवासी जालपाखेडी थाना रवाजना डुंगर जिला सवाई माधोपुर को गिरफतार करने में सफलता प्राप्त की है।

दिलखुश उर्फ गोलु बैरवा ने अपने गांव के युवकों कों संगठित करके रोमियों नाम से गैंग बना रखी है। जिसके सदस्य जितेन्द्र उर्फ आषी, धारासिंह, रामकेष गुर्जर, संजय बैरवा निवासीगण जालपाखेडी थाना रवाजना डुंगर जिला सवाई माधोपुर है। गैग का सदस्य जितेन्द्र सिंह पहले मोबाईल टॉवरों पर टेक्नीशियन का काम करता था। वह दिलखुश बैरवा की गैंग में शामिल हो गया।

जितेन्द्र सिंह ने गैंग के सदस्यों को मोबाईल टॉवर से केबल काटने का तरीका व केबल काटने के बाद टॉवर की साइड डाउन नही हो, का प्रशिक्षण दिया। उसके बाद गैग के सदस्यों ने मिलकर सवाई माधोपुर, बून्दी में एक के बाद एक मोबाईल टॉवरों की केबल चोरी करना प्रारम्भ कर दिया। गैंग के सदस्यों को यह जानकारी है कि जियो कम्पनी के मोबाईल टॉवर से केबल काटने के बाद करीब 10 मिनट तक साइड डाउन नही होती है। जिसका फायदा उठाकर गैंग के सदस्य केबल काटने के बाद 10 मिनट के अन्दर उस केबल का कनेक्शन दुसरी केबल से कर देते है। जिससे मोबाईल टॉवर की साईड डाउन नही होती है। जिससे कम्पनी को टॉवर से केबल चोरी होने का पता नही चलता है। इसी वजह से गैंग के सदस्य पुलिस पकड में नही आते है।