बूंदी : बिनब्याही नाबालिग हुई गर्भवती, गर्भपात कराने पहुंचे तो हुआ भंडाफोड, पीडिता को नारी शाला भेजा

-दुराचारी आरोपी गिरफतार, पुलिस ने किया मौका मुआयना
 
Bundi: Unmarried minor became pregnant, when she reached for abortion, it was busted, the victim was sent to women's school

बूंदी। जिले के तालेड़ा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी अविवाहित नाबालिग बालिका के गर्भवती होने के मामले में तालेड़ा थाना पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया (Taleda police station took a young man into custody in connection with the pregnancy of an unmarried minor girl) है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। उक्त मामला बाल कल्याण समिति की जानकारी में आने के बाद मामले में पर संज्ञान लेते हुए कार्यवाही शुरू की गई थी।

जानकारी के मुताबिक शनिवार को बालिका दो महिलाओं के साथ तालेड़ा अस्पताल में पेट दर्द की शिकायत लेकर पहुंची थी, बालिका के साथ उसकी दादी व एक अन्य महिला मौजूद थी जो चिकित्सा महिला चिकित्सक से बालिका का गर्भपात करने के लिए कह रही थी, हालांकि डॉक्टर ने उसे कोटा रेफर कर दिया था।  जब बालिका कोटा जेके लोन अस्पताल पहुंची तो वहां के चिकित्सकों ने बाल कल्याण समिति कोटा को इसकी सूचना कर दी। मामला बूंदी जिले का होने के कारण मामले की सूचना बाल कल्याण समिति बूंदी को दी गई, जिस पर बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष सीमा पोद्दार ने पर संज्ञान लेते हुए मामले की सूचना तालेड़ा थाना पुलिस को दी। जिस पर तालेड़ा थाना पुलिस बालिका को कोटा से बूंदी लेकर आई और सखी सेंटर में छोड़ दिया। 

जांच में नाबालिग पाये जाने पर आरोपी के खिलाफ पोस्को में केस दर्ज
सोमवार को बालिका की उम्र का सत्यापन करवाया गया, स्कूली रिकॉर्ड के अनुसार बालिका 17 वर्ष और 6 माह की निकली। इस पर बालिका के नाबालिग होने व बालिका के साथ दुराचार होने का मामला सामने आने पर तालेड़ा थाना पुलिस ने बलात्कार और पोस्को एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। वहीं देहित आरोपी सोनू मेघवाल 22 वर्षीय को हिरासत में लिया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित नाबालिग बालिका अपने पिता के साथ गांव के पास खेत और जंगल में बकरियां चराने जाते थे, बालिका का पिता मानसिक रूप से अस्वस्थ है। बकरियां चराने के दोरान देहित गांव निवासी सोनू मेघवाल पिछले डेढ 2 साल से उसके पिता को इधर-उधर भेजकर नाबालिग बालिका के साथ दुराचार कर रहा था। पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद घटनास्थल का मौका मुआयना किया।

आज होगी सोनोग्राफी
वही बालिका को नाबालिक होने के कारण बाल कल्याण समिति के सुपुर्द कर दिया। बालिका को नारीशाला भेजा गया है। बालिका के गर्भवती होने व गर्भपात कराने को लेकर मंगलवार को उसकी सोनोग्राफी करवाई जाएगी। जिसके बाद यह तय हो पाएगा की बालिका का गर्भपात हो सकता है या नहीं। इसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जा सकेगी।