बूंदी : अविवाहित 15 साल कि नाबालिग बालिका हुई गर्भवती, बाल कल्याण समिति ने लिया प्रसंज्ञान

- तालेड़ा पुलिस की सहायता से बालिका को सखी सेंटर में रखवाया
 
Bundi: Unmarried 15-year-old minor girl became pregnant, Child Welfare Committee took cognizance

बूंदी। जिले के तालेड़ा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी अविवाहित 15 वर्षीय नाबालिग बालिका के गर्भवती होने का मामला (Case of unmarried 15-year-old minor girl getting pregnant) सामने आने के बाद बूंदी जिला बाल कल्याण समिति ने प्रसंज्ञान (Bundi District Child Welfare Committee has taken cognizance) लेते हुए तालेड़ा थाना पुलिस की सहायता से बालिका को सखी सेंटर बूंदी में रखवाया है, जिसका सोमवार स्कूली दस्तावेजों में दर्ज जन्मतिथि के आधार पर उम्र का आंकलन किया जाएगा। हालांकि चिकित्सक उसकी उम्र 15 वर्ष मान रहे हैं, जबकि आधार कार्ड में उसकी उम्र 19 वर्ष अंकित है। जबकि देखने में वह नाबालिग लगती है।

महिला चिकित्सक ने नहीं दी सूचना
शनिवार को तालेड़ा स्वास्थ्य केंद्र डॉ लक्ष्मी वर्मा के पास दो महिलाएं एक नाबालिग बालिका के पेट दर्द की शिकायत लेकर पहुंची, महिला चिकित्सक ने बालिका से उसके मासिक पीरियड एवं पेट फुलाव के बारे में जानकारी ली तो बालिका चिकित्सक को भ्रमित करती रही। जब महिला चिकित्सक ने बालिका की जांच की तो वह करीब 24 सप्ताह खनी 6 माह की गर्भवती पायी गई, बालिका के साथ आयी महिलाओं को जब उसके गर्भवती होने की जानकारी दी तो उन्होंने तुरंत ही कहा कि इसे निकाल दो महिला चिकित्सक से उसका गर्भपात करने कि कहने लगी। महिला चिकित्सक ने कहा कि यह हमारे अधिकार क्षेत्र से बाहर है इसलिए उसे 108 एंबुलेंस में बैठा कर कोटा के लिए रेफर कर दिया। लेकिन महिला चिकित्सक ने उक्त मामले की सूचना बाल कल्याण समिति बूंदी व तालेड़ा थाना पुलिस को इसकी सुचना नहीं दी।

कोटा से बूंदी आयी सुचना, बाल कल्याण समिति ने लिया प्रसंज्ञान
वहीं एंबुलेंस की सहायता से दोनो महिलाए उसे कोटा जेके लोन अस्पताल लेकर पहुंची, जहां डॉ निर्मला शर्मा गायनिक एचओडी ने अविवाहित नाबालिग बालिका के गर्भपात कराने का मामला सामने आने पर इसकी सूचना उन्होंने कोटा बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष कनीज फातिमा को दी। बाल कल्याण समिति कोटा की अध्यक्ष कनीज फातिमा ने बताया कि मामला कोटा के अधिकार क्षेत्र से बाहर होने के कारण बूंदी बाल कल्याण समिति को इसकी जानकारी दी गई, जिसके बाद बूंदी बाल कल्याण समिति ने मामले में प्रसंज्ञान लेते हुए तालेड़ा थाना पुलिस को इसकी सूचना दी, सूचना पर तालेड़ा थाना पुलिस कोटा से बालिका को अपने साथ ले गई और बूंदी स्थित सखी सेंटर में छोड़ दिया।

जबकि तालेड़ा स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ ब्रजमोहन मालव ने कहा कि बालिका पेट दर्द की शिकायत कर रही थी उसने अविवाहित एवं गर्भवती होने की जानकारी नहीं दी थी, लेकिन महिला चिकित्सक की जांच में इसे गर्भवती होना पाया गया जिस पर महिला चिकित्सक ने उसे कोटा रेफर किया।

बाल कल्याण समिति बूंदी कि अध्यक्ष सीमा पोद्दार ने कहा कि मामले की जानकारी मिलने का पर तालेड़ा थाना पुलिस की मदद से बालिका को बूंदी बुलवाकर सखी सेंटर में रखा गया है, सोमवार को बच्ची की उम्र का सत्यापन करवाया जाएगा, उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।