बूंदी : राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय के औचक निरीक्षण में अनुपस्थित मिले इतने कार्मिक

- औचक निरीक्षण कि सूचना से मचा हड़कंप, दिये छुट्टी के प्रार्थना पत्र
 
Bundi: In the surprise inspection of the Government Polytechnic College, so many personnel were found absent

बूंदी। राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय बूंदी (Government Polytechnic College Bundi) में तकनिकी शिक्षा विभाग शासन सचिवालय से आयी टीम ने औचक निरीक्षण (A surprise check) किया। निरीक्षण दल में शामिल महबूब अली पठान, अंकित भादू द्वारा किये गये औचक निरीक्षण में 15 से ज्यादा कार्मिक नदारत मिलें। पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में केवल 3 ही अधिकारी प्रधानाचार्य मुकेश चंद्र राजौरा, सुनील प्रजापत, अवधेश कुमार सिंह प्रवक्ता कंप्यूटर ही उपस्थित पाए गए थे। शासन सचिवालय से निरीक्षण के लिए आयी टीम की सूचना मिलने पर अन्य सभी अधिकारी व कर्मचारियो में हड़कम्प मच गया। जिसके चलते कर्मचारी आधे रास्ते से ही घर लोट गये और छुट्टी के प्रार्थना पत्र व बीमार होने संबंधी प्रार्थना पत्र महाविद्यालय में ईमेल कर दिये।

 निरीक्षण के दौरान अधिकारी व मंत्रालयिक कर्मचारी महाविद्यालय में अनुपस्थित पाए गए। जिनमें अधिकारी फूलन कुमार, तरुण सिंह, दिलीप जैन प्रवक्ता गणित, सायर हुसैन प्रवक्ता भौतिकी, शंभू सिंह, वंदना यादव प्रवक्ता यांत्रिकी, विकास शर्मा, सुश्री प्रियंका वर्मा, हिमांशु चौहान, हेमंत गौतम, शिवजी लाल सैनी, श्रीमती लक्षिता राय प्रवक्ता इलेक्ट्रॉनिक, प्राची सक्सेना, संजय कुमार मीणा, दिनेश कुमार वर्मा इत्यादि कर्मचारी अनुपस्थित थे। साथ ही ठेके पर कार्यरत कर्मचारी राधेश्याम, कैलाश बैरागी, राजेंद्र इत्यादि भी अनुपस्थित पाए गए। जिनका आज निविदा नवीनीकरण किया जाना है। 

राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय बूंदी में घोर अनियमितताएं भी पायी गई। छात्रों द्वारा कहा गया कि महाविद्यालय में अध्ययन अध्यापन कार्य सुचारू रूप से नहीं करवाया जाता है, संस्था में साफ-सफाई व्यवस्था नहीं है, पीने का पानी नहीं है, जंगली जानवर बंदर इत्यादि घूमते हैं एवं डराते हैं। कैंटीन की व्यवस्था भी उपलब्ध नहीं है, सचिवालय से आए निरीक्षण अधिकारियों द्वारा प्राचार्य को कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। निरिक्षण में अनुपस्थित मिले कार्मिको कि सूचना निदेशक जोधपुर मुख्यालय भेज कर 3 दिवसीय कारण बताओ नोटिस जारी किये गये है।