बूंदी : दर्दनाक सड़क हादसे में 4 लोगो की मौत, मृतको में एक दिन का नवजात भी शामिल

 - पु़त्र के जन्म कि खुशियां चंद घंटो हुई काफूर, एक ही पल में हो गया पुरा परिवार तबाह 
- हादसे में गंभीर घायल हंसराज कि हालत चिंताजनक
 
Bundi: 4 people died in a painful road accident, a day-old newborn was also included in the dead

बूंदी। जिले हिंडोली थाना क्षेत्र के पेचकी बावड़ी के निकट देवा खेड़ागांव (Deva Khedagaon near Pechki Baori of Hindoli police station area) स्थित नेशनल हाईवे 52 पर दो कारों की आमने-सामने की भिड़ंत में 4 जनों की मौत (4 killed in head-on collision of two cars on National Highway 52) हो गई है। मृतकों में एक 2 घंटे पुर्व जन्मा नवजात बच्चा, उसकी मां, दादी और कार चालक शामिल (The dead included a newborn baby born 2 hours before, his mother, grandmother and car driver.) है। यह लोग प्रसव के बाद अपने गांव जा रह थे।

हिंडौली एसएचओ मुकेश कुमारने बताया कि देवा का खेड़ा पेच की बावड़ी के निकट ब्रेजा व ओमनी कार के बीच आमने-सामने से भिड़ंत हुई है। दुर्घटना इतनी भयंकर थी कि ओमनी कार में सवार ड्राइवर और अन्य उसमें फंस गए, जिन्हें बड़ी मशक्कत से बाहर निकाला और अस्पताल पहुंचाया।

दुर्घटना के समय हिंडोली थाने के ड्यूटी ऑफिसर रामफूल ने कहा कि भीलवाड़ा जिले के हनुमान नगर थाना इलाके के चांदादंड गांव निवासी हंसराज की पत्नी रेखा का प्रसव उसके ससुराल बूंदी जिले के हिंडोली थाना इलाके के उमर गांव में हुआ था। प्रसव के करीब दो घंटे बाद बच्चे के श्वास में तकलीफ होने के चलते नवजात व प्रसुता को निकटतम हायर सेंटर के लिए रेफर किया गया था। शुक्रवार रात को वह अपने गांव जाने के लिए उमर गांव से निकल गए थे, इसमें ड्राइवर उमर गांव निवासी पिंटू, हंसराज की मां नंदूबाई, पत्नी रेखा व एक दिन का नवजात सवार थे।

दुर्घटना रात को करीब 12 बजे करीब हुई थी। जब बूंदी की तरफ से देवली जा रही कार से उनकी आमने-सामने की भिड़ंत हो गई। ऐसे में मौके पर नवजात और उसकी मां रेखा की मौत हो गई, जबकि हंसराज, नंदू बाई व पिंटू गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत कर इन्हें बाहर निकाला गया। रेखा और उसके बच्चे को बूंदी, पिंटू और हंसराज को कोटा रेफर किया गया, जबकि नंदूबाई को टोंक जिले के देवली ले जाया गया। नंदू बाई ने देवली के अस्पताल में दम तोड़ दिया, ड्राइवर पिंटू ने कोटा ले जाते समय रास्ते में ही दम तोड़ दिया, जिसे वापस हिंडोली ले जाया गया। जबकि हंसराज कोटा के निजी अस्पताल में भर्ती है जिसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इसके बाद पिंटू का पोस्टमार्टम हिंडोली में हुआ है, जबकि नंदू बाई और रेखा का पोस्टमार्टम देवली में करवाया गया है। सभी के शव परिजनों को सौंप दिए हैं।