पानी, बिजली और सड़क निर्माण को लेकर भाजपा पार्षदों ने जाम लगाकर किया विरोध प्रदर्शन

-शहर की वर्तमान दुर्दशा के लिए भाजपा जिम्मेदार- कांग्रेस 
 
BJP councilors protested by jamming for water, electricity and road construction

बूंदी। शहर के भाजपा पार्षद और पदाधिकारियों (City BJP councilors and office bearers) द्वारा गुरुवार को पानी, बिजली की सुचारू व्यवस्था एवं सड़क निर्माण को लेकर विरोध प्रदर्शन किया (Protests were held for the smooth system of water, electricity and road construction) गया। वहीं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य सत्येश शर्मा ने चक्काजाम को हास्यपद बताते हुए शहर की वर्तमान दुर्दशा के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। 

शहर के भाजपा पदाधिकारियों एवं पार्षदों ने पानी, बिजली व सड़क के मुद्दे को लेकर कागदी देवरा तिराहे पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया। नगर परिषद प्रशासन एंव जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शहर के वार्ड नंबर 33, 34, 35 और 58 के पार्षदों ने कहा कि नगर परिषद प्रशासन को मोची बाजार से लेकर बड़ा रामद्वारा तक सड़क पुनःर्निर्माण की मांग को लेकर अवगत करा दिया गया है। लेकिन अभी तक सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है। भाजपा पार्षद और पदाधिकारियों द्वारा कागदी देवरा तिराहे पर जाम लगाने से यहां वाहनों की कतारें लग गई। करीब 2 घंटे तक भाजपा पार्षद और पदाधिकारी नगर परिषद और जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे।

सूचना पर उपखंड अधिकारी हेमराज परिडवाल और कोतवाली थाना अधिकारी सहदेव सिंह मय जाब्ते के पहुंचे और उन्होंने प्रदर्शनकारियों से समझाइश कर आश्वासन दिया कि जल्द ही वार्ड में सफाई, बिजली, पानी की व्यवस्था सुचारू कर दी जाएगी, साथ ही सड़क निर्माण भी जल्द कराया जाएगा। एसडीएम के आश्वासन पर पार्षदों ने जाम हटा दिया।

इस दौरान भाजपा जिला महामंत्री सुरेश अग्रवाल, शहर अध्यक्ष महावीर खंगार, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष नुपुर मालव, जिला प्रवक्ता निर्मल मालव, पार्षद संजय शर्मा, बालकृष्ण स्वामी, मनीष सिसोदिया, पूर्व पार्षद करण सैनी, विनोद शर्मा, क्षेत्रवासी मौजूद थे। 

भाजपा का चक्काजाम हास्यास्पद- सत्येश शर्मा 
इधर, कांग्रेस नेता पीसीसी सदस्य सत्येश शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा बूंदी शहर की सड़कों को लेकर किया गया चक्का जाम बहुत ही हास्यास्पद है, बूंदी की जो दुर्दशा वर्तमान में है वह विरासत में इन्हीं लोगों द्वारा बूंदी की जनता को दी गई है और अब अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए शहर की भोली भाली जनता को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। भाजपा के यह लोग भली भांति जानते हैं कि बूंदी शहर की सभी प्रमुख सड़कें, नवल सागर झील का सौंदर्य करण, शहर की पेयजल व्यवस्था और सीवरेज सहित जैत सागर से निकलने वाले नाले के निर्माण की सभी औपचारिकताएं सरकार के स्तर पर अंतिम चरण में है और शीघ्र ही नगरीय विकास मंत्री स्वयं बूंदी आकर उक्त कार्यों का शिलान्यास करने वाले हैं। इसलिए इस तरह चक्का जाम कर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का असफल प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस का बोर्ड शहर का सुनियोजित विकास के लिए पूरी तरह से वचनबद्ध है।