ठाकुरजी की सवारी शामिल बच्चों ने मंदिर के पास बादाम समझकर खाये रतनजोत के बीज, एक दर्जन से ज्यादा बच्चों की तबियत बिगड़ी

 
bhilwara hospital

भीलवाड़ा। जिले में बीती रात को गंगापुर थाना क्षेत्र के उमेदपुरा गांव में रतनजोत के बीज खाने से एक दर्जन से ज्यादा बच्चों की तबियत बिगड़ने का मामला सामने आया है। तबियत बिगड़ने पर सभी बच्चों को जिले के महात्मा गांधी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। जहां बच्चों का उपचार किया जा रहा है। अब बच्चों की हालत सामान्य बताई जा रही है।

उमेदपुरा गांव में स्थित कैर का बावजी के पास शुक्रवार को सभी बच्चे ठाकुरजी की सवारी में शामिल होने गए थे। एक तरफ ग्रामीण मंदिर के पास सवारी निकाल रहे थे। वहीं, दूसरी तरफ वहां लगे चंदरचौबिया (रतनजोत) के पौधे पर लगे बीजों को बादाम समझकर बच्चे तोड़कर खाने लगे थे। देर शाम 12 से ज्यादा बच्चों की तबियत अचानक से बिगड़ गई। बच्चों को उल्टी दस्त शुरू हो गए। उनकी सांसे भी तेज हो गई। पहले सभी को नजदिकी अस्पताल लाये गये जहां से जिला अस्पताल में रेफर किया गया है।

गांव में एक साथ इतने बच्चों के बीमार होने की खबर आग की तरह फेलने से अफरातफरी मच गई। इस बीच बच्चों से ही मंदिर के पास के पौधे से बादाम खाने की बात सामने आई। ग्रामीणों को पता चला कि बच्चों ने रतनजोत के बीज खाए है। सभी बच्चों को महात्मा गांधी अस्पताल ले जाना पड़ा। डॉक्टरों द्वारा उपचार करने के बाद बच्चों की हालत सामान्य है।