सवाई माधोपुर-मित्रपुरा के मानपुर गांव में युवक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

 
 प्रतिकात्मक फोटो

सवाई माधोपुर/मित्रपुरा, (राकेश चौधरी)। मित्रपुरा तहसील क्षेत्र के गांव मानपुर में एक युवक ने फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली है। इसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया है।

मित्रपुरा चौकी क्षेत्र के मानपुर गांव में सोमवार गत रात को एक 20 वर्षीय युवक ने अपने घर में फांसी का फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। ग्रामीणों की सूचना के बाद मित्रपुरा चौकी इंचार्ज बचू सिंह मौके पर पहुँचे और मृतक के शव को कब्जे में लेकर मित्रपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोस्टमार्टम के लिए रखवाया।

मित्रपुरा चौकी इंचार्ज ने बताया कि मृतक दिलखुश मीना 20 वर्षीय पिता रमेश मीना मानपुर गांव का निवासी था, जिसने गत रात को अपने घर में फांसी का फंदा लगा लिया, जिसके चलते उसकी मौत हो गई. मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर अंतिम संस्कार के लिये शव परिजनों को सौंप दिया है। साथ ही बताया कि आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है।

मित्रपुरा सीएचसी में नही है मोर्चरी की व्यवस्था व पोस्टमार्टम स्टाफ़
मित्रपुरा सीएचसी में मोर्चरी की व्यवस्था नही होने के 1 घण्टे तक भार गाड़ी में पड़ा रहा मृतक का शव गौरतलब है कि मित्रपुरा सीएचसी में पोस्टमार्टम स्टाफ़ व मोर्चरी नही होने के कारण बोंली उपखंड से लगभग 1घण्टे बाद स्टाफ़ पोस्टमार्टम करने के लिए पहुचा जब तक मृतक का शव भार गाड़ी में पड़ा रहा।जिसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त हुआ।

फांसी पर झूलता मिला भाई
परिवार वालों ने बताया की रोजाना की तरह जब  रात को दिलखुश अपने कमरे में सोया हुआ था। लेकिन सुबह काफी देर तक नही उठने पर परिजन दिलखुश को उठाने के लिए कमरे के गेट को बजाए लेकिन अंदर से बंद होने के कारण नही खुला और नही दिलखुश उठा तो पीछे के खिड़की से आवाज देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। दिलखुश अपने कमरे में फांसी लगाकर झूलता मिला। परिजनों के चिल्लाने की आवाज सुनकर आस-पास के लोग मौके पर पहुंचे।

बाद में वहां मौजूद लोगों ने फंदा लगाकर झूले युवक नीचे उतरा और पुलिस को सूचना दी बता दे की दिलखुश दो बहनों का इकलौता भाई था। उसकी माता पिता,खेती मजदूरी का काम करते हैं।

अपने इकलौते बेटे के शव को देखकर माँ-बाप का रो- रोकर बुरा हाल हो गया। दिलखुश की मौत के बाद पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

दो बहनों के बीच इकलौता भाई था 5महीने पहले ही हुई थी शादी
जानकारी के अनुसार दिलखुश अपने परिवार का एक एकलौता सहारा था भगवान ने उसे भी छीन लिया दो बहनों के इकलौता भाई था दिलखुश नही बच्चा वो भी पूरे परिवार वालो का रो रो कर बुरा हाल है।