साधारण सभा की बैठक में हंगामा, जिला परिषद सदस्य गरिमा राजपुरोहित और विधायक हमीर सिंह भिड़े

राजपुरोहित बोलीं कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने को सड़क निर्माण नहीं होने दे रहे विधायक

 
विधायक हमीर सिंह भिड़े

बाड़मेर। जिला परिषद की साधारण सभा की लंबे समय बाद हुई बैठक में जिला परिषद सदस्य गरीमा राजपुरोहित ने सिवाना विधायक हमीर सिंह भायल पर आरोप लगाए कि कुछ लोगों के फायदे के लिए सिणेर से धारणा गांव सड़क मार्ग का काम होने नहीं दे रहे हो। इसके बाद विधायक और जिला परिषद सदस्य के बीच जमकर तानातनी हो गई।

जिला परिषद सदस्य गरिमा राजपुरोहित

दरअसल, जिला परिषद हॉल में बुधवार को मीटिंग जिला प्रमुख महेन्द्र चौधरी की अध्यक्षता में शुरू हुई, मीटिंग में जिला कलेक्टर लोक बंधु, विधायक हेमाराम चौधरी, अमीन खान, मेवाराम जैन, पदमाराम मेघवाल, हमीर सिंह भायल, प्रधान, मौजूद थे। जिला परिषद सीओ मोहनदान रतनू ने पहले की मीटिंग में लिए गए प्रस्तावों व कामों की समीक्षा की। इसके बाद मीटिंग में वर्तमान एजेंडों के ऊपर चर्चा शुरू की गई।

इस दौरान सिवाना उपखंड में सिणेर गांव से धारणा गांव तक संपर्क को लेकर जिला परिषद सदस्य गरिमा राजपुरोहित ने सिवाना विधायक हमीर सिंह भायल पर आरोप लगाया कि विधायक अपने कुछ लोगों के फायदे के लिए संपर्क सड़क को दूसरी जगह ले जाना चाहते हैं। जिन लोगों को फायदा मिलना चाहिए उनको नहीं मिल रहा है और आरोप लगाया कि विधायक सड़क बनने नहीं दे रहे हैं।

इस पर विधायक हमीर सिंह भायल भड़क गए और कहा जहां पर कटाव था वहां बन रही थी, किसान भी सहमत थे। टेंडर भी हो गए थे, इसके बाद एसडीएम ने स्टे दे दिया और एक साल बाद स्टे खारिज हो गया। राजपुरोहित ने कहा कि विवाद करने वाले लोगों का विधायक सहयोग करते हैं। इस पर हमीर सिंह ने कहा मैंने तो कलेक्टर को रोड बनाने के लिए लिख कर दिया है।

दोनों बहस ज्यादा बढ़ता देख मीटिंग में बैठे विधायकों व अन्य सदस्यों ने शांत करवाया। ऐसा नहीं है की यह पहली बार जिला परिषद की बैठक में विधायक हमीर सिंह भायल और गरिमा राजपुरोहित आमने-सामने हुए हैं। इससे पहले भी जिला परिषद साधारण मीटिंग में पानी के मुद्दे पर गरिमा राजपुरोहित ने हमीर सिंह भायल पर आरोप लगाए थे। इसके बाद हमीरसिंह भायल ने पलटवार भी किया था।