JVVNL कनिष्ट अभियंता 15 हजार की रिश्वत लेते गिरफतार, राशि टॉयलेट में फेंकी, फोड़ दिया ACB का मोबाइल

- ट्रांसफार्मर लौटाने की एवज में मांगे थे 25 हजार, एसीबी ने दबोचा
 
JVVNL Junior Engineer arrested for taking bribe of 15 thousand, threw the amount in the toilet, broke ACB's mobile

बारां। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो बूंदी की टीम (Anti-Corruption Bureau Bundi team) ने बुधवार को बारां जिले के केलवाड़ा में बिजली निगम के कनिष्ट अभियंता को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया (Junior Engineer of Electricity Corporation was arrested red handed taking a bribe of 15 thousand rupees in Kelwara of Baran district.) है। आरोपी परिवादी से बिजली का बिल बकाया होने पर खेत से उतारा गया ट्रांसफार्मर वापस देने की एवज में 25 हजार रुपए की मांग कर रहा था।

केलवाड़ा के कलोनियां निवासी परिवादी ओमप्रकाश ने बूंदी एसीबी चौकी पर शिकायत देकर बताया कि उसके खेत पर लगे कृषि कनेक्शन का बिल बकाया चल रहा था,  जिसपर बिजली निगम ने खेत पर लगा ट्रांसफार्मर खोल लिया था। विधुत ट्रांसफार्मर परिवादी को वापस देने की एवज में केलवाड़ा के कनिष्ट अभियंता विक्रम मीणा 25 हजार रुपए रिश्वत मांग रहा है। इस पर एसीबी कोटा के एसपी आलोक श्रीवास्तव के सुपरविजन में एसीबी की बूंदी डीएसपी ज्ञानचन्द मीना के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया गया। 

सत्यापन में शिकायत सही पाये जाने पर बुधवार को मय टीम एसीबी सीआई ताराचन्द ट्रेप कार्रवाई करते हुए विक्रम मीणा, कनिष्ठ अभियंता जेवीवीएनएल केलवाड़ा जिला बारां को परिवादी से 15 हजार रुपए की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है।

एसीबी टीम सदस्य का फोड़ा मोबाइल 
डीएसपी ज्ञानचंद ने बताया कि सत्यापन के दौरान आरोपी कनिष्ट अभियंता विक्रम मीणा ने परिवादी से 10 हजार रुपए रिश्वत ले चुका था। इसके बाद एसीबी बूंदी टीम की ओर से ट्रेप कार्रवाई के दौरान आरोपी कनिष्ट अभियंता विक्रम मीना को परिवादी से रिश्वत की शेष रिश्वत राशि 15 हजार रुपए लेते हुए रंगे हाथों ट्रेप किया है। 

परिवादी से रिश्वत की राशि प्राप्त करने के बाद आरोपी कनिष्ट अभियंता ने एसीबी टीम को देखकर रिश्वत की राशि को घर के टॉयलेट में डालकर फ्लश चलाकर खुर्द-बुर्द करने का प्रयास किया। एसीबी टीम ने मौके पर टॉयलेट से रिश्वत राशि बरामद कर ली। एसीबी टीम में शामिल कार्मिकों से भी अभद्रता की। एक कार्मिक का मोबाइल भी फोड़ दिया।