कॉन्सटेबल के खिलाफ ACB ने किया मामला दर्ज, परिवादी से मांगी थी 20 हजार की मंथली, सत्यापन के दोरान लिये 6 हजार रूपये

 
ACB registered a case against the constable, had asked for 20 thousand monthly from the complainant, 6 thousand rupees taken during verification
 बारां। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने रावतभाटा थाने के कॉन्स्टेबल (Constable of Rawatbhata Police Station) के खिलाफ परिवादी से चोरी का माल खरीदने के मामले में नहीं फंसाने की एवज में रिश्वत मांगने का मामला दर्ज (Case registered for demanding bribe in lieu of not being implicated in buying stolen goods) किया है। आरोपी कांस्टेबल ने सत्यापन के दौरान परिवादी से रिश्वत के 6 हजार रुपए ले लिए। ट्रेप कार्रवाई के दौरान परिवादी पर शक होने के कारण उसने रिश्वत की बकाया राशि नहीं ली। ऐसे में ट्रेप कार्रवाई नहीं होने पर एसीबी मुख्यालय के आदेश पर आरोपी कॉन्स्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

एसीबी के एएसपी गोपाल सिंह कानावत ने बताया कि 7 फरवरी को परिवादी आदर्श नगर, बीएड कॉलेज के पास रावतभाटा निवासी आदिल हुसैन ने बारां एसीबी चौकी पर एक लिखित शिकायत एसीबी डीएसपी अनीश अहमद को दी थी। जिसमें बताया था कि परिवादी रावतभाटा में कबाड़े का काम करता है। रावतभाटा थाने के पुलिसकर्मी गिर्राज ने परिवादी को चोरी का माल खरीदने के लिए कहा और 20 हजार रूपए मासिक बंदी के रूप में रिश्वत की मांग की गई। मासिक बंदी नहीं देने पर परिवादी पर चोरी का माल खरीदने का झूठा मामला दर्ज करने की धमकी दी।

इस पर एसीबी बारां टीम ने शिकायत का 8 फरवरी को गोपनीय सत्यापन कराया। आरोपी गिर्राज प्रसाद गुर्जर ने सत्यापन के दौरान परिवादी से मासिक बंदी के रूप में 20 हजार रूपए रिश्वत की बात की। सत्यापन के दौरान ही आरोपी गिरिराज ने परिवादी से 6 हजार रूपए प्राप्त कर लिए और शेष 14 हजार रूपए एक-दो दिन बाद देना तय किया। ऐसे में एसीबी की ओर से 9 फरवरी को ट्रेप कार्रवाई का आयोजन किया गया।

 आरोपी पुलिसकर्मी को परिवादी पर शक होने के कारण उसने रिश्वत राशि नहीं ली। ऐसे मे ट्रेप कार्रवाई नहीं हो सकी। एएसपी कानावत ने बताया कि कार्रवाई की रिपोर्ट ब्यूरो मुख्यालय भेजी गई। मुख्यालय की ओर से आरोपी के खिलाफ रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया है। एसीबी ने मामले की जांच शुरु कर दी है।