दुष्कर्म करने में नाकाम रहे भाई ने की चचेरी बहन की हत्या, पुलिस के सामने अपहरण का चश्मदीद गवाह बनकर किया गुमराह

 
Brother, who failed to rape, killed his cousin, misled the police by becoming an eyewitness to the kidnapping

बांसवाड़ा। जिले के जंगल में कुछ दिन पहले अर्द्धनग्न अवस्था में 11वीं कक्षा की छात्रा की लाश मिलने से लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया था। पहले छात्रा के अपहरण की कहानी सामने आई, लेकिन पुलिस की जांच में जब राज खुला तो उसका चचेरा भाई ही हत्यारा निकला। बता दें, कि चचेरा भाई बहन के साथ दुष्कर्म करना चाहता था। अपने मकसद में नाकाम रहने पर जब छात्रा ने इस बारे में सबको बताने की बात कही तो भाई ने उसको मोत के घाट उतार दिया। इसके बाद वह खुद अपहरण का चश्मदीद बनकर पुलिस को गुमराह करता रहा। बार-बार बयान बदलने पर पुलिस को उस पर शक हुआ। सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। मामला बांसवाड़ा जिले में लोहरया थाना क्षेत्र का है।

पुलिस जांच में पता चला, नाबालिग चचेरा भाई अपनी ही बहन के साथ दुष्कर्म करना चाहता था। बहन ने इसका विरोध किया और यह बात परिवार में सबको बताने की धमकी दी तो आरोपी ने खुद को बचाने के लिए चचेरी बहन की गला दबाकर हत्या कर दी। नाबालिग आरोपी ने एक शातिर अपराधी की तरह खुद का फोन तोड़कर पानी में डाल दिया और शर्ट फाड़कर मौके पर ही फेंक दी थी। इसके बाद खुद को घटना के प्रत्यक्षदर्शी के तौर पर पेश करते हुए लगातार पुलिस को गुमराह करने में लगा रहा।

बांसवाड़ा जिला पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार मीणा ने बताया कि लोहारिया थाना क्षेत्र में खोड़न नाले के पास जंगल में 11वीं क्लास की छात्रा का शव मिला था। उसके शरीर पर आधे कपड़े ही थे। शव बरामदगी से एक दिन पहले पीड़िता के पिता ने बेटी का मोबाइल फोन लूटने और अपहरण की शिकायत थाने में दी थी। पुलिस के आला अफसरों ने मौके पर जाकर मुआयना किया और सबूत जुटाए। आरोपी को पकड़ने के लिए FSL टीम और डॉग स्क्वॉड की भी मदद ली गई।

पीड़ित पिता की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में खुद को अपहरण की घटना का चश्मदीद बताने वाला लड़की का चचेरा भाई पुलिस को बयान बदल कर गुमराह करता रहा। इस पर पुलिस ने थोड़ी सख्ती दिखाते हुए जब पूछताछ की तो उसने सच कबूल लिया। फिलहाल आरोपी को बाल कल्याण गृह में रखवाया गया है।