राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियों को दिया अंतिम रूप, मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने लिया व्यवस्थओं का जायजा

 
The preparations for the presidential election were given final shape, the Chief Electoral Officer took stock of the arrangements

जयपुर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियों को अंतिम रूप (Chief Electoral Officer Praveen Gupta finalizes the preparations for the presidential election) देते हुए विधानसभा परिसर स्थित मतदान स्थल का निरीक्षण किया। राष्ट्रपति चुनाव-2022 के मद्देनजर गुरूवार को मतदान अधिकरियों एवं अन्य संबंधित अधिकारियों को 18 जुलाई को होने वाले मतदान से जुड़ी प्रक्रिया तथा अन्य सभी तैयारियों की मुख्य निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में ट्रेनिंग भी दी गई। 

गुप्ता ने सभी पोलिंग अधिकारियों के कार्यों, दायित्वों, पोलिंग ऑफिसर की बैठक व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, मतदान के लिए आने वाले सदस्यों के लिए प्रतीक्षा कक्ष, मतदान संबंधी निर्देशों के पोस्टर का सही स्थानों पर डिस्प्ले, मीडिया का प्रवेश, पहचान पत्र, मतदान प्रक्रिया की वीडियोग्राफी सहित अन्य सभी व्यवस्थाओं का जायजा लिया और निर्देश प्रदान किए।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए 2 सहायक रिटर्निंग अधिकारी और 4 मतदान अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। साथ ही भारत निर्वाचन आयोग द्वारा एक ऑब्जर्वर भी नियुक्त किया गया है। 

 गुप्ता ने कहा कि मतदान प्रक्रिया से जुड़े सभी अधिकारी अपने दायित्वों का भली प्रकार से निर्वहन करें। साथ ही सुरक्षित व गोपनीय मतदान का पूरा ध्यान रखें। उन्होंने बताया कि मतपेटी, मतपत्र व अन्य मतदान सामग्री को कड़ी सुरक्षा के साथ स्ट्रांग रूम में रखा गया है। स्ट्रांग रूम की सील मतदान दिवस 18 जुलाई के दिन प्रातः 9 बजे खोली जाएगी। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि मतदान समाप्ति के पश्चात 18 जुलाई को ही अधिकृत अधिकारी मतयुक्त मतपेटी और अन्य मतदान सामग्री को हवाई मार्ग द्वारा नई दिल्ली ले जाकर राज्यसभा सचिवालय के रिटर्निंग ऑफिसर को जमा कराएंगे।

इस अवसर पर विशेषाधिकारी निर्वाचन विभाग सुरेश चंद्र एवं अन्य अधिकारियों ने पोलिंग अधिकारियों, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों, सुरक्षा व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को मतदान प्रक्रिया के संबंध में आवश्यक जानकारी दी। बैठक में सहायक रिटर्निंग अधिकारी डॉ. जोगाराम, शासन सचिव स्वायत शासन विभाग, अतिरिक्त निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग अरूण जोशी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।