कोटा के मुकुंदरा और बूंदी के रामगढ़ में अक्टूबर से शुरू होगी सफारी, घड़ियाल सेंचुरी का मसला भी सुलझेगा

 
Safari will start in Kota's Mukundra and Bundi's Ramgarh from October, the issue of crocodile century will also be resolved

नई दिल्ली/कोटा। दिवाली से पहले कोटा-बूंदी समेत सम्पूर्ण हाड़ौती को पर्यटन के क्षेत्र में बड़ा तोहफा मिल सकता है (Before Diwali, the entire Hadoti including Kota-Bundi can get a big gift in the field of tourism.)। कोटा के मुंकुदरा हिल्स टाइगर रिजर्व और बूंदी के रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व में अक्टूबर से जंगल सफारी प्रारंभ (Jungle safari starts in Kota's Mukundara Hills Tiger Reserve and Bundi's Ramgarh Vishdhari Tiger Reserve from October) हो सकती है।

लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला के संसद भवन स्थित कक्ष में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव की उपस्थिति में आयोजित बैठक में बिरला ने अधिकारियों से दोनों टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी प्रारंभ किए जाने को लेकर जानकारी मांगी। इस पर अधिकारियों ने बताया कि मुकुंदरा और रामगढ़ में सफारी के लिए मार्गतय कर लिए गए हैं। बाघ आने तथा सफारी के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूरी करने के बाद अक्टूबर में दोनों ही जगह सफारी प्रारंभ करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

धौलपुर रिजर्व को जल्द देेंगे स्वीकृति
बैठक में धौलपुर टाइगर रिजर्व को लेकर भी चर्चा हुई। स्पीकर बिरला ने कहा कि धौलपुर टाइगर रिजर्व के अस्तित्व में आने से राजस्थान में पर्यटन गतिविधियों को बल मिलेगा। इस पर एनटीसीए के अधिकारियों ने आश्वस्त किया कि राजस्थान सरकार से प्रस्ताव आने पर वे जल्द से जल्द इसकी स्वीकृति देंगे।

घड़ियाल सेंचुरी का मसला सुलझेगा
कोटा में घडियाल सेंचुरी के निकट गतिविधियों को लेकर भी बैठक में बड़ा फैसला हुआ। बैठक में स्पीकर बिरला ने कहा कि चंबल नदी के किनारे बड़ी संख्या में निर्माण हो चुके हैं। ऐसे में वहां गतिविधियों की विधिवत स्वीकृति मिलनी चाहिए। इस पर अधिकारियों ने कहा कि एक किमी तक ही ईको सेंसिटिव जोन रखे जाने के प्रस्ताव तैयार कर केंद्र को भेज दिए जाएंगे। वन मंत्रालय के अधिकारियों ने भी कहा कि राजस्थान सरकार इसका प्रस्ताव भेज दे, उसे तत्काल स्वीकृति दे दी जाएगी।