राजस्थान : सरदारशहर विधानसभा सीट पर 5 दिसंबर को होगा मतदान, उपचुनाव की तारीख का ऐलान

 
Rajasthan: Voting will be held on December 5 in Sardarshahr assembly seat, by-election date announced

जयपुर। भारतीय निर्वाचन आयोग ने राजस्थान, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, बिहार और छत्तीसगढ़ में 5 विधानसभा सीटों व एक लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव की तारीख का एलान कर दिया है। राजस्थान की सरदारशहर विधानसभा सीट (Sardarshahr assembly seat of Rajasthan) पर होने वाले उपचुनाव के लिए 5 दिसंबर को मतदान (Voting for the by-election on December 5) होगा। जिसके नतीजे 8 दिसंबर को आएंगे।

दरअसल, कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पंडित भंवरलाल शर्मा के निधन के बाद सरदारशहर विधानसभा सीट खाली हुई थी। जिस पर उपचुनाव की तारीख का शनिवार को एलान किया गया। सरदारशहर में उपचुनाव गुजरात विधानसभा के दूसरे और अंतिम चरण के दिन यानी 5 दिसंबर को होगा। वहीं, मतगणना गुजरात व हिमाचल प्रदेश के नतीजों के साथ ही 8 दिसंबर को घोषित होंगे। 

राजस्थान की सरदारशहर सीट के साथ ही देश में 5 दिसंबर को कुल 5 विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव होगा। राजस्थान के 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले संभवतः यह आखरी चुनाव हो, जिसे दोनों ही पार्टियां सेमीफाइनल के रूप में देख रही हैं। सरदारशहर विधानसभा उपचुनाव के लिए आगामी 10 नवंबर को गजट नोटिफिकेशन जारी होगा तो नामांकन की अंतिम तारीख 17 नवंबर निर्धारित है। इसके इतर 18 नवंबर को नामांकन की जांच व 21 नवंबर को नाम वापसी की अंतिम तारीख है, इसी तरह 5 दिसंबर को मतदान के बाद 8 दिसंबर को परिणाम आएंगे।

सरदारशहर सीट कांग्रेस की परंपरागत सीट मानी जाती है। पिछले 6 चुनाव में से 5 चुनाव में यहां कांग्रेस को सफलता मिली है। वहीं, पंडित भंवरलाल शर्मा का इस सीट पर कितना कंट्रोल था इसका पता इसी से लगता है कि पिछले 8 चुनाव में से 6 चुनाव पंडित भंवरलाल शर्मा ने ही जीते थे, हालांकि 2 बार भंवरलाल शर्मा लोक दल और जनता दल से यहां चुनाव जीते थे। ऐसे में कांग्रेस पार्टी इस सीट पर पंडित भंवरलाल शर्मा के परिवार से ही प्रत्याशी उतार सकती है। साथ ही उनके बेटे अनिल शर्मा को टिकट मिलने की संभावना अधिक है। वहीं, बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए राजकुमार रिणवा भी टिकट के रेस में बने हुए हैं। सियासी गलियारों में इस बात की भी चर्चा है कि बीजेपी राजकुमार रिणवा को बतौर प्रत्याशी मैदान में उतार सकती है। इसके अलावा चर्चा यह भी है कि बीजेपी यहां से किसी जाट उम्मीदवार पर दांव लगा सकती है।