राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी के VC रामावतार गुप्ता 5 लाख रुपये की रिश्वत लेते ट्रेप

 
Rajasthan Technical University VC Ramavtar Gupta traps taking bribe of Rs 5 lakh

जयपुर। राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी (RTU) के वाइस चांसलर (VC) प्रोफेसर रामावतार गुप्ता (Professor Ramavtar Gupta) को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम (Anti-Corruption Bureau team) ने गुरुवार को 5 लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार (Arrested red handed taking bribe of Rs 5 lakh) कर लिया। ACB की टीम ने यह कार्यवाही राजधानी जयपुर में MNIT के सरकारी गेस्ट हाउस में अंजाम दी।

 प्रोफेसर रामावतार गुप्ता पिछले चार दिनों से इसी गेस्ट हाउस में ठहरे हुए थे, ACB ने पांच लाख रुपये की रिश्वत की रकम के अलावा वाइस चांसलर रामावतार गुप्ता के गेस्ट हाउस में स्थित कमरे से 21 लाख रुपये की बड़ी रकम भी बरामद की है। यह रकम कहां से आई इसके बारे में एसीबी वाइस चांसलर से पूछताछ कर रही है।

ACB के अनुसार ट्रेप की कार्यवाही के बाद एसीबी की टीमों ने प्रोफेसर रामावतार गुप्ता के कोटा और जयपुर स्थित ठिकानों पर भी सर्च कार्यवाही शुरू कर दी है। एक निजी कॉलेज के संचालक ने एसीबी के हेल्पलाइन नंबरों पर इस संबंध में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि कोटा स्थित राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर रामावतार गुप्ता उनसे 10 लाख रुपये की रिश्वत की डिमांड कर रहे हैं।

रिश्वत की यह रकम कॉलेज में इंजीनियरिंग की सीटें बढ़ाने और कॉलेज संचालन में कोई बाधा उत्पन्न नहीं करने की एवज में रिश्वत कि मांग कि जा रही थी। एसीबी ने जब शिकायत का सत्यापन कराया तो इसकी पुष्टि हो गई। इस पर ACB की टीम ने आरटीयू के वीसी को रंगे हाथों पकड़ने के लिये गुरुवार को  जाल बिछाया।

वाइस चांसलर रामावतार गुप्ता ने परिवादी को रिश्वत के पांच लाख रुपये की रकम लेकर जयपुर के जवाहर लाल नेहरु मार्ग स्थित एमएनआईटी कैम्पस में बने गेस्ट हाउस में बुलाया। वहां रिश्वत लेते ही इशारा मिलने पर एसीबी ने वाइस चांसलर रामावतार गुप्ता को ट्रेप कर लिया। वीसी के ट्रेप होने की सूचना मिलते ही शिक्षा जगत में हड़कंप मच गया। एसीबी ने गुप्ता के ठिकानों पर सर्च की कार्रवाई में जुटी हुई है। जांच में कई बड़े खुलासे होने की संभावना है।