राजस्थान : 29 अगस्त से 2 अक्टूबर तक होगा ग्रामीण ओलम्पिक का आयोजन

 प्रदेश के दूरस्थ इलाकों में खेलों और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन दे रही राज्य सरकार -मुख्यमंत्री
 
Rajasthan: Rural Olympics will be organized from 29 August to 2 October

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कहा कि प्रदेश में व्यापक स्तर पर खेलों का वातावरण तैयार (The environment for sports is prepared on a large scale in the state) करने के लिए राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक का आयोजन 29 अगस्त से 2 अक्टूबर तक (Rajiv Gandhi Rural Olympics to be organized from 29 August to 2 October) होगा। इन खेलों का आयोजन ग्राम पंचायत, ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर किया जाएगा जिससे खेलों और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिलेगा।

गहलोत शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर युवा मामले एवं खेल विभाग की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में आधारभूत खेल सुविधाएं विकसित करने, खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने, खेल एवं खिलाड़ियों को प्रोत्साहन व खेल गतिविधियों के आयोजन के लिए कई महत्वाकांक्षी योजनाएं चला रही हैं। सरकार द्वारा खिलाड़ियों को आउट ऑफ टर्न पॉलिसी के तहत 164 नियुक्तियां दी जा चुकी हैं एवं 65 खिलाड़ियों की नियुक्ति की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। इसके अलावा प्रदेश में स्पोर्ट्स पर्सन पेंशन योजना भी लागू की जा रही है।

ग्रामीण ओलम्पिक में भाग लेंगे 27 लाख खिलाड़ी
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में पहली बार ग्रामीण ओलम्पिक का महत्वाकांक्षी आयोजन हो रहा है जिसमें प्रदेशभर के लगभग 27 लाख खिलाड़ी भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि इस ग्रामीण ओलम्पिक में प्रदेश की 11341 ग्राम पंचायत, 352 ब्लॉक, 33 जिले एवं राज्य स्तर पर कबड्डी, शूटिंग, वॉलीबॉल, टेनिस बॉल, क्रिकेट, खो-खो, वॉलीबॉल व हॉकी खेलों की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। यह आयोजन राज्य में प्रतिभा खोज का एक बड़ा माध्यम बनेगा और प्रदेश भविष्य में खेल के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में गिना जाएगा। इस आयोजन के लिए 40 करोड़ रुपये की वित्तीय स्वीकृति दे दी गई है। उन्होंने अधिकारियों को इस आयोजन के व्यापक प्रचार-प्रसार के भी निर्देश दिए।

हाई परफोरमेन्स स्पोर्ट्स ट्रेनिंग एवं रिहेबिलीटेशन सेन्टर का लोकार्पण 29 मई को
प्रदेश के हाई परफोरमेन्स स्पोर्ट्स ट्रेनिंग एवं रिहेबिलीटेशन सेन्टर की स्थापना एस.एम.एस. स्टेडियम में कर दी गई है। इस सेन्टर में 13 करोड़ 79 लाख रूपये की लागत से 6 तरह की लैब विकसित की गई है जिनका लोकार्पण 29 मई को किया जाना प्रस्तावित है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा बजट 2021-22 में खिलाड़ियों के खेल कौशल का तकनीकी मशीनों से परीक्षण करने व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की रिहेब सुविधा उपलब्ध कराने हेतु हाई परफोरमेन्स स्पोर्ट्स ट्रेनिंग एवं रिहेबीलिटेशन सेन्टर स्थापित करने की घोषणा की गई थी।

फिट राजस्थान, हिट राजस्थान
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा जीवन निरोगी रहने हेतु व्यायाम व योग अतिआवश्यक है। प्रदेश में निरोगी राजस्थान जागरूकता अभियान से समन्वय करते हुए राज्य के युवाओं को गम्भीर बीमारियों से बचाव एवं स्वस्थ जीवन शैली अपनाने हेतु एक विशेष जागरूकता अभियान ‘फिट राजस्थान, हिट राजस्थान’ चलाया जायेगा।

नेहरू यूथ कल्चरल एक्सपोजर प्रोग्राम
गहलोत ने कहा कि राज्य की युवा शक्ति को अन्य राज्यों की संस्कृति से रूबरू कराने के लिए प्रदेश के 10 हजार प्रतिभाशाली युवाओं, कलाकारों एवं साहसिक खिलाड़ियों के लिए नेहरू यूथ कल्चरल एक्सपोजर प्रोग्राम चलाया जा रहा है।

बैठक में बताया गया कि नेहरू युवा सांस्कृतिक अन्तर्राज्य भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत राजस्थान, गुजरात, दीव में 100 युवाओं को भ्रमण करवाया गया है। राष्ट्रीय नेहरू युवा संस्कृति महोत्सव जयपुर में होना प्रस्तावित है, जिसमें विभिन्न राज्यों के चयनित युवा भाग लेंगे। साथ ही यूथ हॉस्टल जयपुर को यूथ ‘एक्सीलेंस सेंटर’ के रूप में विकसित किया जाएगा जिसके लिए लगभग 4 करोड़ 88 लाख रूपये की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। छात्रों का एथलेटिक्स, वॉलीबॉल, बास्केटबॉल, हैण्डबॉल, कबड्डी, जूडो, तीरन्दाजी एवं बैडमिन्टन खेल में चयन कर एस.एम.एस. स्टेडियम जयपुर में आवासीय स्कूल प्रारम्भ किया गया है तथा 240 छात्रों के रहने हेतु हॉस्टल भवन का निर्माण भी प्रारम्भ हो चुका है।

नेहरू यूथ ट्रांजिट हॉस्टल एवं फेसिलिटेशन सेन्टर
दिल्ली में विभिन्न कोचिंग एवं करियर काउन्सलिंग लेकर अपना भविष्य संवार रहे प्रदेश के अल्पआय वर्ग के युवाओं के ठहरने की व्यवस्था के लिए दिल्ली स्थित उदयपुर हाउस में 300 करोड़ रूपये की लागत से 500 युवक-युवतियों के लिए 250 कमरों का नेहरू यूथ ट्रांजिट हॉस्टल एवं फेसिलिटेशन सेन्टर बनाने का कार्य भी राज्य सरकार कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के ठहरने की सुगम व्यवस्था यूथ हॉस्टल के माध्यम से प्रत्येक जिला मुख्यालय पर की जा रही है। हमारा उद्देश्य है कि प्रदेश में एक सफल कार्यबल का गठन किया जाए जो राज्य की अर्थव्यवस्था को विकसित करने की दिशा में स्थायी योगदान दे। इसी क्रम में राजस्थान युवा बोर्ड के माध्यम से बेरोजगार युवाओं की सहायता के लिए विशेष नवीन राज्य युवा नीति का मसौदा तैयार किया जा रहा है। उन्होंने झुंझुनू में क्रीड़ा विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। साथ ही ‘खेलो इण्डिया’ में उत्कृष्ट कार्य के लिए केन्द्र सरकार द्वारा सम्मानित होने पर चूरू कलक्टर सिद्धर्थ सिहाग के कार्यों को भी सराहा।

नवीन खेल नीति का प्रारूप तैयार
खेल एवं युवा मामलात् मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि प्रदेश में आधारभूत खेल संरचना, खिलाड़ियों के उन्नत प्रशिक्षण एवं प्रोत्साहन, विज्ञान एवं तकनीक, विशेष खेल गतिविधियां आदि बिन्दुओं को समायोजित करते हुए राज्य की नवीन खेल नीति का प्रारूप तैयार कर लिया गया है। ग्राम पंचायत, ब्लॉक, जिला एवं संभाग स्तर पर चार तरह के स्टेडियम विकसित करने की योजना भी इस नवीन नीति में प्रस्तावित है।

बैठक में राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद की चेयरमैन श्रीमती कृष्णा पूनिया, मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा एवं शासन सचिव नरेश ठकराल के अलावा विभाग के अन्य उच्च अधिकारी उपस्थित थे।