राजस्थान मे विद्युत उत्पादन की 8 इकाइया ठप होने से 4 से 5 घंटे बिजली गुल

 
Light

  राजस्थान मे तकनीकी कारणो से सरकारी बिजली उत्पादन कंपनियों की 6 यूनिट और अडानी की दो यूनिट से बिजली उत्पादन ठप हो गयी है। मांग और आपूर्ति में 2000 मेगावाट का अंतर आया है। इससे गांवो मे 4 से 5 घंटे बिजली कटौती शुरू हो गई। जबकि कस्बो मे दो से तीन घंटे बिजली कटौती शुरू कर दी गई। विद्युत उत्पादन निगम की 7580 मेगावाट मे से 2690 मेगावाट क्षमता की यूनिट से बिजली उत्पादन बंद हो गया। इनमे तीन सुपर क्रिटिकल विद्युत उत्पादन इकाइया भी शामिल है। विद्युत उत्पादन निगम के अफसरो के अनुसार सूरतगढ़ की तीन इकाइया अचानक बंद हो गई है।

इनमे दो इकाइयों सुपर क्रिटिकल की शामिल है। जिनसे 1320 मेगावाट बिजली उत्पादन प्रभावित हो गया है, जबकि यहां की एक 250 मेगावाट की इकाई भी अचानक बंद हो गई है, जिससे चलते बिजली उत्पादन प्रभावित हो गया। छबड़ा की देा इकाइया भी बंद हो गई। इनमे एक 660 मेगावाट की सुपर क्रिटीकल इकाई शामिल है। जबकि कोटा की 210 मेगावाट की एक विद्युत इकाई अचानक तकनीकी खामी से बंद हो गई।

ऐसे मे 2690 मेगावाट विद्युत उत्पादन प्रभावित हो गया। इकाइयो के बंद होने से प्रदेश में फिर बिजली संकट गहरा हो गया है। इंजीनयर सुपर क्रिटीकल विद्युत उत्पादन इकाइयो को चालू करने में जुट गए। कल शाम तक इन इकाइयों के फिर से शुरू करने का दावा किया जा रहा है। इनमे तीन इकाइया शामिल है।