सुबह 4 बजे अफसरो के साथ पहुंचीं टीना डाबी बाबा रामदेव मंदिरए विधि विधान से की मंगला आरती

 
teena

राजस्थान के रामदेवरा में लोक देवता बाबा रामदेव का सालाना मेला सोमवार को शुरू हो गया है। कोरोना के चलते मेला दो साल  के बाद आयोजित हो रहा है। राजस्‍थान के साथ उत्तर प्रदेश, पंजाब एवं हरियाणा सहित कई राज्यों से लगभग 35 लाख लोगो के पश्चिमी राजस्थान के लोक देवता बाबा रामदेव की समाधि पर दर्शन के लिए पहुंचने की उम्मीद है। बाबा रामदेव की जन्म तिथि भाद्रपद शुक्ल पक्ष की द्वितीया से एकादशी तक रामदेवरा मेला आयोजन होता है। जैसलमेर कलेक्टर टीना डाबी ने साम्प्रदायिक सद्भाव का संदेश देकर बाबा की समाधि की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की और यहां आने वाले श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं दी है।

मंगला आरती के अवसर पर मंदिर के प्रमुख प्रवेश द्वार के खुलते ही बाबा के भक्तजन बाबा के जयकारे लगाते हुए बड़े उत्साह के साथ निज मंदिर में प्रवेश किया है। अनेक श्रृद्धालुओं ने बाबा की बीज के अवसर पर अपने ईष्टदेव के दर्शन कर अपने आप को धन्य महसूस किया है। श्रृद्धालुगण बाबा की अवतरण तिथि भादवासुदी बीज के अवसर पर ईष्ट देव के दर्शन करने के लिये रात्रि से बैरीकेटिंग के मध्य डेरा जमाए रखा था। जिला कलक्टर टीना डाबी, पुलिस अधीक्षक भंवरसिंह नाथावत ने कतार में खड़े मेलार्थियों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।  मेले से जुडे अधिकारियों को निर्देश दिए है। कहा कि वे बाबा के भक्तों को सुगमतापूर्वक दर्शन कराने की व्यवस्था करे। उमड़ी भीड को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध मॉनेटरिंग करते रहे। सरकार ने जैसलमेर जिले के रामदेवरा तीर्थ के वार्षिक मेले में अन्य राज्यों से आने वाले यात्री वाहनों को टैक्स में छूट देने का निर्णय किया है. राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार, मोटर वाहन टैक्स एवं विशेष रोड टैक्स मे छूट मेला अवधि 29 अगस्त, 2022 से 10 सितंबर, 2022 तक रहेगी।