भरतपुर दौरें पर वसुंधरा राजे, बोलीं- भगवान का दिया सब कुछ है, राजनीति में पद आते-जाते हैं लेकिन जनता.....

 
भरतपुर दौरें पर वसुंधरा राजे

भरतपुर। भरतपुर जिले में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का जनसंपर्क कार्यक्रम रहा। रूपबास से ही राजे का जगह-जगह बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा भव्य स्वागत किया गया लेकिन इसी दौरान पोस्टरों से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया गायब नजर आए। शहर में लगाए गए होर्डिंग बोर्ड में पूनिया का फोटो नहीं लगाया गया। सारस चौराहे पर बीजेपी के पूर्व विधायक विजय बंसल के नेतृत्व में वसुंधरा राजे का भव्य स्वागत किया गया।

राजे ने संबोधित करते हुए कहा कि जिस तरह से जनता का प्यार मुझे भरतपुर में मिलता है। वह मेरे लिए अमूल्य है, भगवान का दिया हुआ सब कुछ है लेकिन जनता का यह आशीर्वाद मुझे हमेशा से फलीभूत रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि राजनीति एक ऐसी चीज है जहां पद आते हैं और जाते हैं लेकिन जनता का जो मुझे प्यार मिलता है, वह अमूल्य है।

स्वागत कार्यक्रमों के बाद राजे ने बीजेपी जिलाध्यक्ष शैलेश सिंह के घर पहुंचकर दिवंगत डॉ दिगंबर सिंह और उनकी पत्नी आशा सिंह की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद राजे कोरोना काल में निधन हुए बीजेपी नेताओं के घर पहुंची और परिवार से मुलाकात कर शोक संवेदना व्यक्त की। इस दौरान सैकड़ों की तादाद में उनके साथ काफिला नजर आया। काफिले में वसुंधरा राजे और अन्य बीजेपी नेताओं के जयकारे लगे। लेकिन उसी समय बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया का एक भी जयकारा नहीं लगा। कहीं ना कहीं बीजेपी में अब पोस्टर वार भी देखने को मिला है।

दरअसल, कुछ दिन पहले ही धौलपुर में हुई जन आक्रोश रैली में भी वसुंधरा राजे का पोस्टर गायब नजर आया था। लेकिन यहां वसुंधरा राजे के कार्यक्रम में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया का फोटो गायब नजर आया। लेकिन सारस चौराहे से पहले हुए कार्यक्रमों में कई जगह सतीश पूनिया के भी पोस्टर देखे गए, जिन्हें आगे चलकर टिकट की उम्मीद है उन्होंने तो सतीश पूनिया के फोटो लगाए। लेकिन जो वसुंधरा राजे के समर्थक थे वह एक तरफा राजे के साथ शक्ति प्रदर्शन करते हुए नजर आए।