प्रशासन शहरों के संग अभियान में बीजेपी विधायक डोगरा ने प्राप्त किया 69 ए में जारी पट्टा

 
बीजेपी विधायक डोगरा ने प्राप्त किया 69 ए में जारी पट्टा
कांग्रेसी सभापति मधु नुवाल ने भाजपा विधायक को सोपा न्यू कोलोनी का पहला पट्टा ।
कांग्रेस की योजना भाजपाईयों को भी रास आ रही हैं।

बूंदी। राजस्थान की गहलोत सरकार द्वारा चलाए जा रहे प्रशासन शहरों के संग अभियान में नगर परिषद बूंदी द्वारा अब तक करीब डेढ़ सौ पट्टे जारी किए जा चुके। शिविर की खास बात यह है कि यहां बिना राजनीतिक भेदभाव के लोगों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। इसका परिणाम यहां शहर के अंबेडकर भवन शिविर स्थल पर देखने को मिला। जहां भाजपा विधायक अशोक डोगरा ने अपने आवास का पट्टा प्राप्त किया है। विधायक जिस कोलोनी में निवास करते हैं इस कोलोनी के लोग वर्षो से पट्टों का इंतजार कर रहे थे, ऐसे में न्यू कोलोनी में पहला पट्टा विधायक अशोक डोगरा के नाम जारी होना चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें, डोगरा बूंदी से तीसरी बार विधायक है और जो काम वह भाजपा सरकार में रहते नही करा सके, वह काम कांग्रेस राज में हुआ है।

राज्य के यशस्वी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल द्वारा धारा 69ए तहत पट्टे जारी करने की जो योजना तैयार की है वह आमजन के लिए लाभकारी साबित हो रही है। इस योजना के माध्यम से वर्षों से पट्टों का इंतजार कर रहे लोग पट्टा पाकर लाभान्वित हो रहे हैं।

आज गुरुवार को नगर परिषद के कुंभा स्टेडियम स्थित अंबेडकर भवन में आयोजित एक सादा समारोह के दौरान कांग्रेस समर्थित सभापति मधू नुवाल ने धारा 69ए के तहत भाजपा विधायक अशोक डोगरा को न्यू कॉलोनी का पहला पट्टा सौंपा है।

नगर परिषद आयुक्त महावीर सिंह सिसोदिया ने बताया कि प्रशासन शहरों की ओर अभियान के तहत अब तक करीब डेढ़ सौ पट्टे जारी किए गए हैं, जिनमें 70 पट्टे धारा 69 ए के तहत जारी हो चुके हैं। जबकि 35 पट्टे स्टेट ग्रांट और 45 पट्टे कृषि भूमि के जारी किए गए हैं। आयुक्त सिसोदिया ने लोगों से आह्वान किया है कि इस पट्टा अभियान से जुड़कर अधिक से अधिक लाभ उठाएं।

आपको बता दें, अंबेडकर भवन में आयोजित प्रशासन शहरों की ओर अभियान में यहां पट्टे बनाने के अलावा अन्य विभाग से जुड़े काम भी हो रहे है। यहां चिकित्सा एंव स्वास्थ्य विभाग की टीम बैठकर लोगों की समस्याएं सुन रही है तो वहीं दूसरी ओर महिला एंव बाल विकास की ओर से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी महिलाओं की समस्याओं के लिए यहां तैनात है। वहीं जयपुर विद्युत वितरण निगम का भी एक काउंटर लगा हुआ है जहां निगम के कर्मचारी विद्युत समस्याओं की सुनवाई कर उनका तत्काल समाधान करवा रहे हैं।