राजस्थान में सभी मंत्रियों के इस्तीफे लेकर जल्द किया जाएगा पुर्नगठन और शपथ ग्रहण समारोह

 
राजस्थान में सभी मंत्रियों के इस्तीफे लेकर जल्द किया जाएगा

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी सहित दिल्ली में अन्य नेताओं के बीच हुई बातचीत के बाद गहलोत-पायलेट की दुरियां कम होने के साथ ही मंत्रिमंडल व राजनितिक नियुक्तियों का रास्ता साफ होता दिखाई दे रहा है। सूत्रों के मुताबिक जल्द ही राजस्थान में पूरे मंत्रिमंडल का इस्तीफा लेकर नए सिरे से सरकार का पुनर्गठन किया जा सकता है। सब कुछ ठीक रहा तो इसी सप्ताह गहलोत मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल देखने को मिल सकता है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहली बार इसके साफ संकेत दिए हैं। सचिवालय कर्मचारी संघ के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जल्द शपथ ग्रहण समारोह होने की संभावना जताई है। गहलोत ने कहा- आज इस सुकून भरे शपथ ग्रहण समारोह का शगुन इतना शानदार होगा कि हमारे सरकार के मंत्रिमंडल का पुनर्गठन है, वह भी अब जल्द होगा।

गहलोत ने आगे कहा- लगता है कि आपके कारण ही नए कैबिनेट का काम रुका हुआ था। आप पहले करवा देते तो हमारा मंत्रिमंडल पहले ही पुनर्गठित हो जाता। आप अंदाजा लगा लीजिए, आपके सचिवालय कर्मचारी संघ के शगुन को मैं किस रूप में मानता हूं। यह आप समझ जाइएगा। इसके लिए मैं आपका आभारी हूं। मुझे उम्मीद है कि अब कोई देरी नहीं होगी। जल्द ही हमारा शपथ ग्रहण समारोह पूरा होगा।

गहलोत ने 11 नवंबर को सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद दिल्ली में कहा था हाईकमान चाहेगा तब मंत्रिमंडल विस्तार होगा। थोड़ा सब्र रखिए। दिल्ली दौरे के दौरान सीएम अशोक गहलोत ने 10 नवंबर को राहुल गांधी के आवास पर प्रियंका गांधी, प्रभारी केसी वेणुगोपाल, प्रभारी अजय माकन के साथ लंबी मंत्रणा की थी।

गहलोत के बयान से यह साफ है कि कांग्रेस हाईकमान ने नए सिरे से कैबिनेट के गठन को मंजूरी दे दी है। हाईकमान की मंजूरी के बाद ही गहलोत ने जल्द शपथ ग्रहण समारोह होने की बात कही है। अब गहलोत ने पुनर्गठन की बात कहकर साफ कर दिया है कि नए सिरे से गठन होगा।