राजस्थान में 1 नवम्बर से शुरू होगी कांग्रेस की डिजिटल मेम्बरशिप, 10 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य

 
कांग्रेस की डिजिटल मेम्बरशिप

जयपुर। राजस्थान में 1 नवम्बर से कांग्रेस पार्टी सदस्यता अभियान शुरू होगा जो 31 मार्च 2022 तक चलेगा। इस दौरान पार्टी ने प्रदेश में 10 लाख नए सदस्य बनाने का टारगेट रखा है। राजस्थान में कुल 200 विधानसभा क्षेत्र हैं। हर विधानसभा क्षेत्र में 5000 नए सदस्य बनाए जाएंगे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में प्रभारी अजय माकन, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दोपहर 1 बजे इस अभियान की लॉन्चिंग करेंगे। पीसीसी में सदस्यता अभियान शुरू करने और पब्लिक अवेयरनेस के लिए बैठक भी रखी गई है। जिसमें सभी प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी, सांसद, विधायक, लोकसभा, विधानसभा प्रत्याशियों, निवर्तमान जिलाध्यक्षों को बुलाया गया है।

एआईसीसी देशभर में 1 नवम्बर से मेम्बर शिप कैम्पेन लॉन्च करेगी। लेकिन अबकी बार ख़ास बात यह है कि डिजिटल मेम्बरशिप पर पार्टी का जोर रहेगा। टेक्नोलॉजी के जमाने में यूथ को ज्यादा से ज्यादा डिजिटली कांग्रेस पार्टी के साथ जोड़ने की यह मुहिम है। साथ ही 5-5 रुपए फीस पर दी जाने वाली मेम्बरशिप के फॉर्म में शराब या ड्रग्स से दूर रहने की घोषणा भी करनी होगी।

मेम्बरशिप प्रोसेस को डिजिटल बनाने के लिए ऐप का इस्तेमाल होगा। प्रोसेस में पूरी पारदर्शिता और गोपनीयता के लिए बनाए रखने के लिए एप का एक्सेस सिर्फ पीसीसी के पास होगा। कांग्रेस देश भर में यह सदस्यता अभियान पार्टी के संगठन चुनाव को ध्यान में रखकर शुरू कर रही है। देशभर में बीजेपी की मजबूती के कारण सिमटती जा रही कांग्रेस पार्टी में नए रक्त का संचार करना चाहती है। इसलिए मेम्बरशिप ड्राइव को शहरी आबादी, बस्ती-मोहल्लों से गांव-ढाणियों तक ले जाना चाहती है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हाल ही सभी राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष और प्रभारियों के साथ लम्बी बैठक कर निर्देश दिए हैं कि अगले 6 महीने में इस सदस्यता अभियान को डिजीटली घर-घर तक पहुंचाकर फीडबैक रिपोर्ट दी जाए।

मेम्बरशिप फॉर्म डिजिटल और मैन्युअल दोनों तरह के हैं, लेकिन डिजिटल पर अबकी बार पार्टी का फोकस ज्यादा है। कांग्रेस पार्टी की सदस्यता लेने के लिए 5 रुपए देने होंगे। सदस्यता फॉर्म में नाम, पहचान संख्या, जिला, विधानसभा, मेम्बरशिप की समाप्ति तिथि और पीसीसी से हस्ताक्षर होंगे। सभी सदस्यों का पूरा रिकॉर्ड डिजिटली मेंटेन किया जाएगा। सभी प्रदेशों के डिजिटल रिकॉर्ड केंद्रीय इलेक्शन ऑथोरिटी के पास जमा होंगे। सदस्यता अभियान पूरा होने के बाद ही संगठनात्मक चुनाव का ऑफिशियल प्रोसेस शुरू होगा।

लॉन्चिंग कार्यक्रम में सरकार के मंत्री, विधायक, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, प्रदेश कार्यकारिणी और विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रहे नेताओं को आमंत्रित किया गया है। पहली बार सदस्यता अभियान में मेम्बरशिप फॉर्म डिजिटल फॉर्मेट में भरवाए जाएंगे। कांग्रेस का सदस्य बनने के लिए डिजिटल फॉर्म को भरकर सबमिट करना होगा। इससे पहले कांग्रेस की सदस्यता ऑफलाइन मिलती थी। 

मेम्बरशिप ड्राइव पूरी होने के बाद 16 अप्रैल से 31 मई 2022 तक कांग्रेस जिलों में ब्लॉक अध्यक्षों और पीसीसी मेंबर का चुनाव कराएगी। फिर 1 जून से लेकर 20 जुलाई 2022 तक जिलाध्यक्षों, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और जिला कार्यकारिणी के चुनाव होंगे। इसके बाद 21 जुलाई से 20 अगस्त 2022 के बीच प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, प्रदेश कार्यकारिणी और एआईसीसी मेंबर के चुनाव होंगे। आखिरी दौर में 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव कार्यक्रम तय हुआ है।